अजय मिश्र टेनी ने कांग्रेस के प्रदर्शन को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, बोले- ED से बचने के लिए कर रहे इस तरह की बातें

Ajay Mishra Teni
ANI Image
केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह ने बहुत सही बात कही थी, कल हमारे देश के लिए बहुत उत्साह का दिन था, इसी दिन धारा-370 हटाना हो या भगवान राम के भव्य मंदिर का शिलान्यास किया जाना हो। इस अवसर पर इस तरह का प्रदर्शन दुर्भाग्यपूर्ण है।

नयी दिल्ली। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी ने कांग्रेस पर विरोध प्रदर्शन को लेकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता काले वस्त्र पहनकर प्रदर्शन कर रहे थे, इससे उनका असली रंग समाने आ गया। दरअसल, कांग्रेस ने केंद्र सरकार के खिलाफ महंगाई, बेरोजगारी और जीएसटी को लेकर संसद से सड़क तक विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान तमाम कांग्रेस सांसदों ने काले वस्त्र पहने हुए थे।

इसे भी पढ़ें: CUET-UG परीक्षा को लेकर राहुल का मोदी सरकार पर हमला, बोले- 4 लोगों की तानाशाही देश को बर्बाद कर रही 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह ने बहुत सही बात कही थी, कल हमारे देश के लिए बहुत उत्साह का दिन था, इसी दिन धारा-370 हटाना हो या भगवान राम के भव्य मंदिर का शिलान्यास किया जाना हो। इस अवसर पर इस तरह का प्रदर्शन दुर्भाग्यपूर्ण है।

न्होंने कहा कि काले वस्त्र पहनकर वे (कांग्रेस) प्रदर्शन कर रहे थे इससे उनका असली रंग सामने आ गया। वे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से बचने के लिए इस तरह की बातें कर रहे हैं, सारा मामला खुल चुका है।

इसे भी पढ़ें: MP में भी जारी है पॉलिटिकल ड्रामा, दिग्विजय का आरोप- बिना सूचना कांग्रेस कार्यालय में घुसी पुलिस 

क्या बोले थे अमित शाह ?

कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने तुष्टिकरण की राजनीति से जोड़ा था। उन्होंने कहा था कि आज का दिन कांग्रेस ने इसलिए काले कपड़ों में विरोध के लिए चुना, क्योंकि वे इसके माध्यम से संदेश देना चाहते हैं कि हम राम जन्मभूमि के शिलान्यास का विरोध करते हैं और अपनी तुष्टिकरण की नीति को आगे बढ़ाना चाहते हैं। आपको बता दें कि 5 अगस्त, 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर की नींव रखी थी।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़