एकजुट है कांग्रेस, दोबारा अध्यक्ष बनने के प्रस्ताव पर राहुल कर रहे विचार ! पार्टी नेताओं की भी यह राय

एकजुट है कांग्रेस, दोबारा अध्यक्ष बनने के प्रस्ताव पर राहुल कर रहे विचार ! पार्टी नेताओं की भी यह राय

कांग्रेस नेता अंबिका सोनी ने बताया कि सभी ने एकमत से सहमति व्यक्त की हालांकि वह (राहुल गांधी) पार्टी अध्यक्ष बनेंगे या नहीं। यह उन पर निर्भर करता है। लेकिन सभी की राय यह है कि राहुल गांधी को पार्टी का अध्यक्ष बनना चाहिए।

नयी दिल्ली। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक शनिवार को एआईसीसी मुख्यालय में हुई।इस बैठक में संगठनात्मक चुनाव और आगामी विधानसभा चुनावों पर चर्चा हुई। इस बैठक के समाप्त होने के बाद पार्टी की वरिष्ठ नेता अंबिका सोनी का बयान सामने आया। जिसमें उन्होंने बताया कि सभी चाहते हैं कि राहुल गांधी को पार्टी का अध्यक्ष बनना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: संगठनात्मक चुनाव का पूरा कार्यक्रम तैयार, अध्यक्ष पद के लिए सितंबर में होगा चुनाव: सूत्र 

राहुल को बनना चाहिए अध्यक्ष 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक कांग्रेस नेता अंबिका सोनी ने बताया कि सभी ने एकमत से सहमति व्यक्त की हालांकि वह (राहुल गांधी) पार्टी अध्यक्ष बनेंगे या नहीं। यह उन पर निर्भर करता है। लेकिन सभी की राय यह है कि राहुल गांधी को पार्टी का अध्यक्ष बनना चाहिए।

सितंबर में शुरू होगा चुनाव 

उन्होंने बताया कि सीडब्ल्यूसी की बैठक में जी-23 का जिक्र नहीं तक नहीं हुआ। वे बैठक में मौजूद थे। कांग्रेस गुटों में नहीं बंटी है, हम सब एक हैं। कांग्रेस के सभी नेता सर्वसम्मति से चाहते हैं कि राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष बनें। चुनाव की प्रक्रिया सितंबर में शुरू हो जाएगी। 

वहीं सूत्रों ने बताया कि बैठक में राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद को लेकर कहा कि मैं इस पर विचार करूंगा। हालांकि बैठक में कुछ नेताओं ने उन्हें चुनाव तक कार्यकारी अध्यक्ष बनाने का अनुरोध किया।

इसे भी पढ़ें: 'कांग्रेस में कुछ नहीं हैं राहुल और MP में कमलनाथ का एकछत्र राज', शिवराज बोले- अच्छी खासी पंजाब सरकार को डुबो दिया 

सीडब्ल्यूसी की बैठक में सोनिया गांधी ने साफ शब्दों में कहा कि चुनाव का पूरा कार्यक्रम तैयार किया जा चुका है और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल चुनाव प्रक्रिया की पूरी जानकारी देगी। वहीं अंबिका सोनी ने बताया कि अध्यक्ष पद के लिए सितंबर 2022 में चुनाव होगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।