मज़हब के नाम पर राजनीति के बदले हारना पसंद करुंगा: तारिक

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 17 2019 4:24PM
मज़हब के नाम पर राजनीति के बदले हारना पसंद करुंगा: तारिक
Image Source: Google

तारिक ने एक बयान में कहा कि मजहब (हिन्दू—मुस्लिम) के नाम पर राजनीति शर्मानक है और यह संविधान निर्माताओं के ख्वाबों को चकनाचूर करने जैसा है।

कटिहार। बिहार में कटिहार लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार तारिक अनवर ने पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के विवादित बयान की निंदा करते हुए बुधवार को कहा कि वह मज़हब के नाम पर राजनीति के बदले हारना पसंद करेंगे। विपक्षी महागठबंधन में शामिल कांग्रेस प्रत्याशी तारिक अनवर के पक्ष में मुस्लिम बहुल कटिहार में मंगलवार को आयोजित एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए सिद्धू ने विवादित टिप्पणी की थी। 

इसे भी पढ़ें: विवादित भाषण को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

तारिक ने एक बयान में कहा कि मजहब (हिन्दू—मुस्लिम) के नाम पर राजनीति शर्मानक है और यह संविधान निर्माताओं के ख्वाबों को चकनाचूर करने जैसा है।उन्होंने कहा कि अगर वह उस रैली में मौजूद होते तो सिद्धू को वैसी टिप्पणी करने से रोकते। तारिक ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने हमेशा सभी धर्मों को एक मंच पर लाने का काम किया है और सभी धर्मों को लेकर साथ चलने और देश को बनाने का काम किया है। सिद्धू के बयान की निंदा करते हुए तारिक ने कहा कि उनको कोई भी ऐसा बयान नहीं देना चाहिए था जिसमें मजहब के नाम पर राजनीति की बू आती हो।

इसे भी पढ़ें: मुस्लिमों पर बयान देकर फंस गए गुरु, आयोग ने मांगी रिपोर्ट

उन्होंने कहा कि ऐसे बयानों से कांग्रेस पार्टी और देश के लोकतंत्र को नुकसान होगा। उन्होंने कहा  मैंने अपने राजनीतिक जीवन के 40-45 सालों में कभी भी धर्म के नाम पर राजनीति नहीं की और यही वजह है कि मुझे सभी धर्मों का सम्मान बराबर मिला और आज भी मिल रहा है।’’ तारिक ने कहा,  मैं मजहब के नाम पर राजनीति करके अपनी सियासत नहीं करना चाहता। 



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story