साइकिल से विधानसभा पहुंचे कांग्रेस विधायक धक्का लगाते दिखे

साइकिल से विधानसभा पहुंचे कांग्रेस विधायक धक्का लगाते दिखे

इस दौरान चढ़ाई होने की वजह से अधिकतर कांग्रेस विधायकों को बीच रास्ते में साइकिल से उतरना पड़ गया। पूर्व मंत्री व विधायक पीसी शर्मा और जीतू पटवारी साइकिल से चढ़ाई नहीं चढ़ पाए और उन्हें साइकिल से उतकर अपने वाहन से विधानसभा जाना पड़ा।

भोपाल। मध्य प्रदेश में विधानसभा का बजट सत्र सोमवार से शुरू हो गया है। इससे पहले कांग्रेस विधायक पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की बढ़ती कीमतों के विरोध में साइकिल से विधानसभा पहुंचे। इस दौरान चढ़ाई होने की वजह से अधिकतर कांग्रेस विधायकों को बीच रास्ते में साइकिल से उतरना पड़ गया। पूर्व मंत्री व विधायक पीसी शर्मा और जीतू पटवारी साइकिल से चढ़ाई नहीं चढ़ पाए और उन्हें साइकिल से उतकर अपने वाहन से विधानसभा जाना पड़ा। इसके बाद विरोध कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ता वापस लौट गए।

 

इसे भी पढ़ें: बजट सत्र अभिभाषण में बोली राज्यपाल, मेरी सरकार का संकल्प है मध्य प्रदेश को देश का अग्रणी, समृद्ध और सबसे विकसित राज्य बनाना

दरअसल, पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का कांग्रेस द्वारा लगातार विरोध किया जा रहा है। इसके लिए बीते तीन दिन से जगह-जगह धरना-प्रदर्शन किये जा रहे हैं। सोमवार को बजट सत्र शुरू होने से पहले कांग्रेस विधायक भोपाल के छह नम्बर बस स्टाप पहुंचे और यहां से साइकिल रैली निकालते हुए विधानसभा की ओर रवाना हुए। इसमें  विधायक आरिफ मसूद, कुणाल चौधरी, पीसी शर्मा, जीतू पटवारी, संजय यादव के साथ कार्यकर्ता मौजूद रहे। पुलिस ने विरोध को देखते हुए बैरिकेड लगा दिये और विधायकों को आगे बढऩे से रोक दिया।

 

इसे भी पढ़ें: गिरीश गौतम मध्य प्रदेश विधानसभा के निर्विरोध अध्यक्ष निर्वाचित, आज से बजट सत्र शुरू

इसके बावजूद विधायक साइकिल से विधानसभा की तरफ बढ़े, लेकिन चढ़ाई होने के कारण कई विधायकों को साइकिल से उतरना पड़ा और अपने वाहनों से विधानसभा जाना पड़ा। हालांकि, विधायक आरिफ मसूद, कुणाल चौधरी विधानसभा तक साइकिल से पहुंचे, लेकिन वे भी बीच रास्ते में साइकिल को धक्का देते नजर आए। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।