russia-ukraine crisis । कांग्रेस ने कहा, हर मुश्किल वक्त में मुंह फेर लेना मोदी सरकार की आदत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 24, 2022   16:34
russia-ukraine crisis । कांग्रेस ने कहा, हर मुश्किल वक्त में मुंह फेर लेना मोदी सरकार की आदत

कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि भारत सरकार का कहना है- यूक्रेन में फ़ंसे हमारे 20,000 भारतीय जहां हैं वहीं रहें क्योंकि सरकार अभी चुनाव लड़ने में व्यस्त है?

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने यूक्रेन में रूस में सैन्य कार्रवाई के बीच वहां कई भारतीय नागरिकों के फंसे होने की पृष्ठभूमि में बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि संकट के समय मुंह फेर लेना केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की आदत बन गई है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘भारत सरकार का कहना है- यूक्रेन में फ़ंसे हमारे 20,000 भारतीय जहां हैं वहीं रहें क्योंकि सरकार अभी चुनाव लड़ने में व्यस्त है?’’ उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री जी, आप सभी का ख़याल करने की बजाय चुनावी रैलियों में हवा भर रहे हैं।मग़र हम देशवासी आप सभी की सकुशलता के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।’’

सुरजेवाला ने आरोप लगाया, ‘‘हर मुश्किल वक्त में मुंह फेर लेना और चुप्पी साध लेना ही मोदी सरकार की आदत बन गयी है।’’ उन्होंने सवाल किया, ‘‘हमारे 20,000 भारतीय युवा यूक्रेन में भय, आशंका और जीवन पर ख़तरे की स्थिति से जूझने को मजबूर हैं। समय रहते उन्हें सकुशल लाने का इंतजाम क्यों नहीं किया ?क्या यही आत्मनिर्भर मिशन है?’’ यूक्रेन से भारत आने वाले भारतीय नागरिकों से एअर इंडिया द्वारा कथित तौर अधिक किराया वसूले जाने संबंधी खबर का हवाला देते हुए कांग्रेस नेता ने कटाक्ष किया, ‘‘यही तो है………फिर से आपदा में अवसर ?’’ गौरतलब है कि यूक्रेन में भारत के दूतावास ने भारतीय नागरिकों से कहा है कि वर्तमान हालात बेहद अनिश्चित, कृपया व्याकुल नहीं हों और आप जहां भी हैं सुरक्षित रहें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।