कांग्रेस ने भारी कैश के साथ पकड़े गए तीनों विधायकों को किया निलंबित, जयराम रमेश बोले- ऑपरेशन लोटस बेनकाब हो गया

Cash
ANI Image
कांग्रेस महासचिव और पार्टी प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने बताया कि तीनों विधायक जिन्हें कल नकदी के साथ पकड़ा गया था, उन्हें पार्टी से तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में कोई भी जनप्रतिनिधि, पार्टी का जिम्मेदार पदाधिकारी या कोई भी कार्यकर्ता हो, हर किसी की जानकारी हमारे पास है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने झारखंड के 3 विधायकों के खिलाफ बड़ा एक्शन लेते हुए उन्हें निलंबित कर दिया है। आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल पुलिस ने कांग्रेस के 3 विधायकों की गाड़ी से भारी मात्रा में कैश बरामद किया था और कांग्रेस विधायकों को हिरासत में ले लिया था। हालांकि कितना कैश बरामद हुआ इसकी जानकारी नहीं मिल पाई थी क्योंकि पुलिस को कैश की गिनती करने के लिए मशीन मगानी पड़ी थी।

इसे भी पढ़ें: 'ग्राम स्वराज की कल्पना को भाजपा ने पहनाया अमलीजामा', जेपी नड्डा बोले- गांव-गरीब को पहचानने में कांग्रेस की सोच रह गई पीछे 

इसी बीच कांग्रेस महासचिव और पार्टी प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने बताया कि तीनों विधायक जिन्हें कल नकदी के साथ पकड़ा गया था, उन्हें पार्टी से तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में कोई भी जनप्रतिनिधि, पार्टी का जिम्मेदार पदाधिकारी या कोई भी कार्यकर्ता हो, हर किसी की जानकारी हमारे पास है। जो कोई भी इससे जुड़ा हुआ या लिप्त पाया जाता है, पार्टी उसके खिलाफ कार्रवाई करेगी।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने ऑपरेशन लोटस के विफल होने की बात कही है। उन्होंने कहा कि झारखंड में भाजपा का 'ऑपरेशन लोटस' आज की रात हावड़ा में बेनकाब हो गया। दिल्ली में 'हम दो' का गेम प्लान झारखंड में वही करने का है जो उन्होंने महाराष्ट्र में एकनाथ-देवेंद्र (E-D) की जोड़ी से करवाया।

हावड़ा एसपी स्वाति भंगालिया ने बताया था कि हमने झारखंड से कांग्रेस के 3 विधायकों जामताड़ा के विधायक इरफान अंसारी, खिजरी के विधायक राजेश कच्छप और कोलेबिरा के विधायक नमन बिक्सल को भारी मात्रा में नकद राशि के साथ पकड़ा है। काउंटिंग मशीन आने के बाद ही हम पैसों की गिनती कर पाएंगे।

इसे भी पढ़ें: झारखंड के 3 कांग्रेसी विधायकों की गाड़ी से बरामद हुआ भारी मात्रा में कैश, भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने 

भाजपा ने साधा था निशाना

झारखंड की भाजपा इकाई के नेता आदित्य साहू ने कहा था कि अभी तो हमें जानकारी नहीं है कि किसका पैसा है और गाड़ी में कौन लोग सवार थे। लेकिन जब से झारखंड में इनकी सरकार बनी है तब से भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। इससे पहले भी झारखंड में अधिकारियों के घरों से बड़ी मात्रा में नकदी पकड़ी गई थी। उन्होंने कहा था कि वे जनता की गाढ़ी कमाई का इस्तेमाल दूसरे कामों में करते हैं। पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया और यह सब सामने आया।

झारखंड कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष बंधु तिर्की ने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि किसी भी सरकार को अस्थिर करने की कोशिश करना भाजपा के स्वभाव में है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की सरकार के खिलाफ भी ऐसा ही किया गया है। सरकार गिराने के लिए उन्हें (भाजपा द्वारा) पैसा दिया गया था।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़