• कांग्रेस कार्यकर्ता ने खुदकुशी से पहले जारी किया सिद्धू के नाम का ऑडियो, कहा- नहीं हो रही सुनवाई

अंकित सिंह Jul 30, 2021 11:23

फिलहाल इस मामले को लेकर पुलिस हरकत में आ गई है। 2 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। गिरफ्तार किए गए 2 लोगों का नाम प्रीतम सिंह और महेंद्र सिंह है जबकि एक आरोपी फरार बताया जा रहा है।

काफी उठापटक के बाद पंजाब में कांग्रेस के अंदर के अंर्तकलह को आलाकमान कम करने में कामयाब रहा है। कुछ दिन पहले ही आलाकमान की ओर से पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी नवजोत सिंह सिद्धू को दी गई। इन सबके बीच एक हैरान करने वाला मामला सामने आ रहा है। दरअसल, पंजाब के लुधियाना में एक कांग्रेस कार्यकर्ता ने खुदकुशी कर ली है। अपनी जान देने से पहले उसने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के नाम का एक ऑडियो भी जारी किया। ऑडियो में उसने आरोप लगाया कि पार्टी कार्यकर्ताओं की अब कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इस खबर के बाद पार्टी के साथ-साथ सरकार में भी हड़कंप मच गया।

बिना किसी देरी के नवजोत सिंह सिद्धू उसी रात को उसके घर पर पहुंच गए। वही मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने खुदकुशी की घटना पर दुख जताया है। खुदकुशी करने वाला कार्यकर्ता हैप्पी बाजवा बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि 49 साल के कांग्रेस कार्यकर्ता हैप्पी बाजवा जहर खाकर अपनी जान दे दी। वह लुधियाना विधानसभा के जांगपुर गांव के रहने वाले है। जान देने से पहले उन्होंने सिद्धू के नाम का ऑडियो भी जारी किया जिसमें उन्होंने पार्टी को लेकर नाराजगी व्यक्त की थी। साथ ही साथ अपने ऑडियो में कांग्रेस पर संगीन आरोप लगाएं। भाजपा ने 3 लोगों को मौत का जिम्मेदार ठहराते हुए जहर खा लिया था।

इसे भी पढ़ें: पंजाब CM ने विद्युत कंपनियों के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया, पीपीए को रद्द करने का दिया आदेश

फिलहाल इस मामले को लेकर पुलिस हरकत में आ गई है। 2 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। गिरफ्तार किए गए 2 लोगों का नाम प्रीतम सिंह और महेंद्र सिंह है जबकि एक आरोपी फरार बताया जा रहा है। आपको यह भी बता दें कि हैप्पी बाजवा कांग्रेस के स्पोर्ट्स एंड कल्चरल देहाती के जिला चेयरमैन थे। उन्होंने आत्महत्या से पहले सिद्धू के नाम का ऑडियो जारी किया था और पार्टी में बात नहीं सुने जाने से वह आहत थे इसलिए उन्होंने जहर खा ली। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा कि लुधियाना जिले से हमारे पार्टी कार्यकर्ता के आत्महत्या करने की दुखद खबर आई है। मैंने डीजीपी पंजाब को निर्देश दिया है कि तत्काल वह इस मामले की जांच करें और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करें। दोषी पाए जाने वाले को बख्शा नहीं जाएगा।