श्रीनगर में धर्मांतरण की घटना को लेकर जबरदस्त हंगामा, दो सिख लड़कियों का जबरदस्ती हुआ निकाह

श्रीनगर में धर्मांतरण की घटना को लेकर जबरदस्त हंगामा, दो सिख लड़कियों का जबरदस्ती हुआ निकाह

धर्मांतरण मामले में दिल्ली से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया और अब जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से एक खबर सामने आ रही है। जहां पर दो सिख लड़कियों का जबरन निकाह किए जाने का आरोप है।

श्रीनगर। देश में धर्मांतरण के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। पहले उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा धर्मांतरण मामले में दिल्ली से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया और अब जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से एक खबर सामने आ रही है। जहां पर दो सिख लड़कियों का जबरन निकाह किए जाने का आरोप है। 

इसे भी पढ़ें: प्रवर्तन निदेशालय उत्तर प्रदेश धर्मांतरण मामले में धन शोधन पहलू की जांच करेगा 

आरोप है कि दो सिख लड़कियों को पहले अगवा किया गया और फिर जबरदस्ती उनका निकाह बड़े धर्म के लोगों से कराया गया है। बताया जा रहा है कि एक लड़की को छुड़ा लिया गया है। दिल्ली में गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के मनजिंदर सिरसा के नेतृत्व में सिख समुदाय के लोगों ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से मुलाकात की और मामले में कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।  

मनजिंदर सिरसा ने बताया कि दोनों बच्चियों को जबरन अगवा किया गया और 50 साल के लोगों के साथ इनका निकाह कराया गया। इसके बाद कोर्ट के भीतर बच्चियों के मां-बाप को भी जाने नहीं दिया गया है। सिरसा ने कहा कि यह लव जिहाद है। इस मामले को लेकर सिरसा ने गृह मंत्री अमित शाह से फोन पर बातचीत भी की है।

इसे भी पढ़ें: जबरदस्ती धर्मांतरण का धंधा स्वीकार्य नहीं, ऐसा करने वालों को नतीजा भुगतना पड़ेगा: नक़वी  

महबूबा मुफ्ती ने जताया दुख

इस मामले में पीडीपी प्रमुख महबूबा मुुफ्ती का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि दो सिख लड़कियों के साथ हुई घटना को लेकर मन दुखी है। जम्मू-कश्मीर में सबसे मुश्किल दौर में भी मुस्लिम और सिख शांति से मिल जुलकर रहे हैं।  उम्मीद है जांच एजेंसियां जल्द जांच करके सच का पता लगाएंगी। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।