धर्मांतरण मामले में ED की बड़ी कार्रवाई, मनी लॉन्ड्रिंग के तहत केस दर्ज

धर्मांतरण मामले में ED की बड़ी कार्रवाई, मनी लॉन्ड्रिंग के तहत केस दर्ज

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ईडी ने उत्तर प्रदेश एटीएस की रिपोर्ट के आधार पर केस दर्स किया है। इस मामले में पुलिस ने दिल्ली के जामिया नगर में रहने वाले मोहम्मद उमर गौतम और काजी जहांगीर कासमी को गिरफ्तार किया है।

नयी दिल्ली। धर्मांतरण मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस ने दिल्ली से दो लोगों को गिरफ्तार किया था। जिनके खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। अब इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग के तहत केस दर्ज किया है। 

इसे भी पढ़ें: दुष्कर्म के बाद जबरन धर्मांतरण करना चाहता था दीन मोहम्मद, रासुका के तहत होगी कार्रवाई 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ईडी ने उत्तर प्रदेश एटीएस की रिपोर्ट के आधार पर केस दर्स किया है। बताया जा रहा है कि ईडी उत्तर प्रदेश, दिल्ली समेत अन्य राज्यों में हुए धर्मांतरण के मामले की जांच खुद करेगी। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश पुलिस कानून व्यवस्था एडीजी प्रशांत किशोर ने सोमवार को बताया था कि  उत्तर प्रदेश पुलिस ने दिल्ली के जामिया नगर में रहने वाले मोहम्मद उमर गौतम और काजी जहांगीर कासमी को गिरफ्तार किया है। इन दोनों पर मूक बधिर लोगों के धर्म परिवर्तन का आरोप है।  

इसे भी पढ़ें: जबरदस्ती धर्मांतरण का धंधा स्वीकार्य नहीं, ऐसा करने वालों को नतीजा भुगतना पड़ेगा: नक़वी  

उन्होंने बताया था कि विभिन्न गैर मुस्लिम मूक बधिर महिलाओं, बच्चों एवं अन्य कमजोर स्तर के लोगों का सामूहिक धर्मपरिवर्तन कर रहे हैं। उमर ने पूछताछ में बताया कि अभी तक 1000 गैर मुस्लिम लोगों को मुस्लिम धर्म में परिवर्तित किया है तथा बड़ी संख्या में उनकी मुस्लिमों से शादी कराई गई है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।