मध्य प्रदेश में लगे कोरोना कर्फ्यू का सकारात्मक असर दिखाई दिया: शिवराज सिंह चौहान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2021   10:31
मध्य प्रदेश में लगे कोरोना कर्फ्यू का सकारात्मक असर दिखाई दिया: शिवराज सिंह चौहान

बैठक में मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने जानकारी दी कि भोपाल के एम्स में आईसीयू के 100 बिस्तर बढ़ाये जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त विभिन्न संगठनों के सहयोग से 2,000 बिस्तरों की व्यवस्था की जा रही है।

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को कहा कि प्रदेश में लगे ‘कोरोना कर्फ्यू’ का सकारात्मक असर दिखाई दे रहा है। इससे संक्रमण की दर स्थिर हुई है। चौहान ने कोविड 19 की रोकथाम और व्यवस्थाओं के संबंध में मुख्यमंत्री निवास से कोरोना नियंत्रण कोर ग्रुप की वर्चुअल बैठक को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘कोविड संक्रमण के प्रबंधन में ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित करना राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। आज 11,000 से अधिक व्यक्ति कोरोना की जंग जीत कर स्वस्थ हुए हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘प्रदेश में जनता कर्फ्यू का सकारात्मक असर दिखाई दे रहा है। संक्रमण की दर स्थिर हुई है।’’ 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया का कोरोना से निधन, मुख्यमंत्री सहित नेताओं ने जताया शोक

चौहान ने कहा कि जिला स्तर पर अब अधिक संक्रमण वाले क्षेत्रों को चिंहित करने की आवश्यकता है। शहरों व गांवों में जिन क्षेत्रों में संक्रमण अधिक है उनका अध्ययन कर सूक्ष्म स्तर पर संक्रमण नियंत्रण के लिए रणनीति बनानी होगी। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से चर्चा में यह तय हुआ है कि रेल मंत्रालय भोपाल के लिए ऑक्सीजन ट्रेन प्रदान करेगा। यह ट्रेन बोकारो से रांची होते हुए भोपाल आयेगी, जिसमें ऑक्सीजन के भरे टैंकर मध्यप्रदेश लाये जायेंगे। चौहान ने बताया कि इंदौर-जामनगर हवाई रूट के बाद अब ग्वालियर-रांची और भोपाल-रांची ऑक्सीलन हवाई रूट से ऑक्सीजन की आपूर्ति मध्य प्रदेश को की जायेगी। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश से खाली ऑक्सीजन सिलेंडर वायु सेना के विमान से भोपाल और ग्वालियर से रांची जायेंगे और वहां से सड़क मार्ग से भरे टैंकर वापस आयेंगे। 

इसे भी पढ़ें: इंदौर में जल्द ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए वायुसेना ने लगातार दूसरे दिन संभाला मोर्चा

मुख्यमंत्री ने कहा कि 155 कोविड देखभाल केंद्रों में 9,041 पृथक-वास बिस्तर और 32 केंद्रों में 618 ऑक्सीजन बिस्तर की व्यवस्था कर ली गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 497 निजी कोविड चिकित्सालयों में से 492 चिकित्सालयों में बिस्तरों की स्थिति और रेट लिस्ट प्रदर्शित की जा रही है। शासकीय और निजी स्वास्थ्य संस्थाओं में 49,660 बिस्तरों की क्षमता विकसित की गई है। मेडिकल किट वितरण का कार्य लगातार जारी है। बैठक में मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने जानकारी दी कि भोपाल के एम्स में आईसीयू के 100 बिस्तर बढ़ाये जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त विभिन्न संगठनों के सहयोग से 2,000 बिस्तरों की व्यवस्था की जा रही है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।