ओडिशा में कोविड-19 से अबतक 6,350 व्यक्ति संक्रमित, मृतकों की संख्या बढ़कर 18 हुई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 27, 2020   19:40
ओडिशा में कोविड-19 से अबतक 6,350 व्यक्ति संक्रमित, मृतकों की संख्या बढ़कर 18 हुई

एक अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 के कारण अब तक गंजाम जिले में नौ लोगों की मौत हो चुकी है। इसी तरह, खुर्दा में चार, कटक में तीन, बरगढ़ और पुरी में एक-एक मौत का मामला सामने आया है।

भुवनेश्वर। ओडिशा में शनिवार को कोरोना वायरस के 170 नए मामले सामने आए जिसके बाद संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 6,350 तक पहुंच गई। नए मामलों में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) का एक जवान भी शामिल है। स्वास्थ्य विभाग ने शनिवार को जारी बयान में कहा कि गंजाम जिले में कोरोना वायरस संक्रमित 68 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई, जिसके बाद राज्य में कोविड-19 से अब तक 18 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके मुताबिक, पीड़ित मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी अन्य बीमारियों से भी ग्रसित था। एक अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 के कारण अब तक गंजाम जिले में नौ लोगों की मौत हो चुकी है। इसी तरह, खुर्दा में चार, कटक में तीन, बरगढ़ और पुरी में एक-एक मौत का मामला सामने आया है। 

इसे भी पढ़ें: ओडिशा में कोविड-19 से निपटने के लिए 2021 तक का प्लान तैयार ! 70 हजार बेड्स की होगी तैनाती 

उन्होंने बताया कि इस मौत के अलावा नौ अन्य कोविड-19 मरीजों की भी मौत हुई लेकिन उनकी मौत अन्य बीामरियों के कारण हुई। उन्होंने कहा कि 170 नए मामलों में से 143 मरीज पृथक-वास केंद्रों में सामने आए, जहां राज्य में बाहर से लौटकर आए लोगों को प्राथमिक जांच के लिए रखा गया है। वहीं, 27 अन्य स्थानीय लोगों से संबंधित हैं। गंजाम जिला प्रशासन ने कहा कि जिले में सामने आए 58 नए मामलों में से 18 मामले अग्रिम पंक्ति में कार्यरत डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी, पुलिस और प्रशासन के कर्मचारियों से संबंधित हैं। वहीं, संक्रमित पाया गया एनडीआरएफ का जवान हाल ही में पश्चिम बंगाल में आए अम्फान चक्रवात के बाद पुनर्निर्माण कार्य से लौटा था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।