मंदिर निर्माण को लेकर देश एकजुट: शाहनवाज हुसैन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2019   19:10
मंदिर निर्माण को लेकर देश एकजुट: शाहनवाज हुसैन

हुसैन ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर राफेल मामले में झूठ बोलने का आरोप लगाया और कहा उन्हें झूठ बोलने पर माफी मांगनी चाहिए।

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने शुक्रवार को यहां कहा कि अयोध्या में मंदिर निर्माण को लेकर सारा देश एकजुट है। भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में हुसैन ने कहा, यह देश 14 अगस्त को बंटा, 15 अगस्त को आजाद हुआ। लेकिन इस नौ नवम्बर की तारीख को भगवान श्रीराम मन्दिर निर्माण के मुद्दे पर एकजुट हुआ। आज पूरा देश राममन्दिर बनाने के लिए एकजुट है। 

इसे भी पढ़ें: अयोध्या फैसले पर विदेश मंत्रालय ने दिया बयान, दूसरे देशों के साथ कूटनीति व्यापक रूप से सफल रही

उन्होंने कहा,  राममन्दिर के निर्माण के मुद्दे पर उच्चतम न्यायालय में लड़ाई लड़ रहे इकबाल अंसारी भी इस फैसले को मान रहे हैं। लेकिन असद्दुदीन औवेसी न्यायालय का फैसला मानने को तैयार नहीं है। क्योंकि देश में मन्दिर निर्माण से एकजुटता आई है भाईचाारा बढ़ा है और औवेसी को यह बढ़ता हुआ भाईचारा कबूल नहीं है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कहा कि आजादी के समय से चल रहे दो बड़े विषय केन्द्र की मोदी सरकार के आने के बाद हल हुए हैं, जिनमें एक कश्मीर से धारा 370 को हटाना व दूसरा अयोध्या मंदिर का मामला है।  उन्होंने कहा कि देश और कश्मीर की जनता ने कांग्रेस और विपक्षी दलों के मनसूबों पर पानी फेर दिया, जिन्हें लगता था कि धारा 370 हटने के बाद कश्मीर में आग लग जायेगी लेकिन उन्हें निराशा का सामना करना पड़ा।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस चाहती है कि अयोध्या में भव्य मंदिर बने: सचिन पायलट

हुसैन ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर राफेल मामले में झूठ बोलने का आरोप लगाया और कहा उन्हें झूठ बोलने पर माफी मांगनी चाहिए। पूरा देश उनकी माफी का इंतजार कर रहा है।राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर कटाक्ष करते हुए हुसैन ने कहा कि गहलोत को केन्द्र की बजाय राजस्थान की समस्याओं पर ध्यान देना चाहिए। हुसैन ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस खुद को एकजुट नहीं हो पा रही है, आपस में ही संघर्ष है। उन्होंने महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा के साथ आने को बेमेल गठबंधन बताया और कहा कि कांग्रेस वहां चौथे नंबर की पार्टी होने के बावजूद सत्तालोलुप्ता के चलते शिवसेना के साथ हाथ मिलाने को तैयार हो गयी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।