दलित व्यक्ति को जबरन बनाया गया मुसलमान, खतना करके जबरदस्ती खिलाया गया 'बीफ'

circumcision
Pixabay free license
हुबली में एक दलित व्यक्ति को कथित रूप से जबरन धर्मांतरण करा कर उसे इस्लाम अपनाने पर मजबूर किया गया। इसके साथ ही उसका खतना कर दिया गया और उसे उसकी इच्छा के विरूद्ध उसे ‘बीफ’ खाने के लिये बाध्य किया गया। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी।

हुबली (कर्नाटक)। हुबली में एक दलित व्यक्ति को कथित रूप से जबरन धर्मांतरण करा कर उसे इस्लाम अपनाने पर मजबूर किया गया। इसके साथ ही उसका खतना कर दिया गया और उसे उसकी इच्छा के विरूद्ध उसे ‘बीफ’ खाने के लिये बाध्य किया गया। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने मामले में श्रीधर गंगाधर (26) की शिकायत के आधार पर कहा कि उसने 12 लोगों के विरूद्ध शिकायत दर्ज करायी है हालांकि, अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुयी है।

इसे भी पढ़ें: रूसी रक्षा उपकरणों पर निर्भरता का कारण भारत की ओर से कोशिश का अभाव नहीं है: जयशंकर

प्रदेश के मांड्या निवासी गंगाधर ने अपनी शिकायत में कहा कि उसका नाम भी बदलकर मोहम्मद सलमान कर दिया गया। उसके अनुसार मई में वह मांड्या के मड्डूर तालुक के कोप्पा के अत्तावर रहमान के संपर्क में आया। पुलिस ने शिकायत के हवाले से बताया कि रहमान उसे बेंगलुरु में कथित रूप से बनाशंकरी मस्जिद ले गया और वहां अजीज साब नामक एक अन्य आरोपी उसे इस्लाम की पाठ पढ़ाने लगा। पुलिस ने कहा कि बेंगलुरु में उसे कई मस्जिदों में ले जाया गया और बाद में उसका खतना कर दिया गया और उसे ‘बीफ’ खाने को बाध्य किया गया। शिकायत के अनुसार जब गंगाधर ने बीफ खाने से मना किया तब उसके साथ मारपीट की गयी। पुलिस के मुताबिक आरोपी उसे तिरुपति और उसके असपास की मस्जिदों में भी ले गये जहां उन्होंने उसे कुरान सीखने और इस्लामिक तरीके से नमाज पढ़ने का तौर तरीका बतलाया।

इसे भी पढ़ें: फार्मा पैकेजिंग से जुड़ी कंपनियों को भी मिले पीएलआई में जगहः भारत बायोटेक

पुलिस का कहना है कि एक दिन आरोपियों ने उसे कम से कम तीन हिंदुओं को मुसलमान बनाने का लक्ष्य दिया, उन्होंने उन्हें पिस्तौल दिया और उसका फोटो खींच लिया। शिकायत में कहा गया है कि आरोपियों ने उसे धमकी दी कि यदि उसने तीन हिंदुओं का धर्मातरण नहीं किया तो वे यह फोटो पुलिस को दे देंगे और उसे फंसा देंगे। पुलिस के अनुसार हुबली लौटने पर गंगाधर ने नौ सितंबर को शिकायत दर्ज करायी। पुलिस के अनुसार मामले की जांच चल रही है और शिकायत में किये गये दावों का सत्यापन करने की कोशिश की जा रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़