देश की सबसे बड़ी मल्टीप्लेक्स श्रृंखला के लिए पीवीआर, आइनॉक्स के बीच विलय करार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 28, 2022   08:19
देश की सबसे बड़ी मल्टीप्लेक्स श्रृंखला के लिए पीवीआर, आइनॉक्स के बीच विलय करार

दोनों कंपनियां अपने मौजूदा मल्टीप्लेक्स का पुराने नाम से ही संचालन करेंगी जबकि संयुक्त कंपनी का नाम ‘पीवीआर आईनॉक्स लिमिटेड होगा। विलय के बाद खुलने वाले नए सिनेमाघरों को ‘पीवीआर आईनॉक्स’ के नाम से ब्रांड किया जाएगा।

नयी दिल्ली| मल्टीप्लेक्स श्रृंखला का परिचालन करने वाली पीवीआर लिमिटेड और आइनॉक्स लेजर लिमिटेड ने एक विलय समझौते की घोषणा की है।

इससे 1,500 स्कीन की सबसे बड़ी मल्टीप्लेक्स श्रृंखला अस्तित्व में आएगी। पीवीआर और आइनॉक्स ने शेयर बाजारों को अलग-अलग भेजी जानकारी में कहा कि दोनों कंपनियों के निदेशक मंडल ने रविवार को हुई अपनी बैठकों में पीवीआर के साथ आईनॉक्स के सभी शेयरों के विलय को मंजूरी दे दी।

दोनों कंपनियां अपने मौजूदा मल्टीप्लेक्स का पुराने नाम से ही संचालन करेंगी जबकि संयुक्त कंपनी का नाम ‘पीवीआर आईनॉक्स लिमिटेड होगा। विलय के बाद खुलने वाले नए सिनेमाघरों को ‘पीवीआर आईनॉक्स’ के नाम से ब्रांड किया जाएगा।

समझौते के अनुसार, आईनॉक्स के पीवीआर के साथ विलय के लिए शेयर अदला-बदली अनुपात 3:10 (आइनॉक्स के 10 शेयरों पर पीवीआर के तीन शेयर) का होगा।।

शेयर बाजार को भेजी गई जानकारी में कहा गया, ‘‘इस विलय समझौते पर पीवीआर और आइनॉक्स के शेयरधारकों, शेयर बाजार, भारतीय प्रतिभूति एवं विनियम बोर्ड (सेबी) और अन्य नियामकों की मंजूरियां ली जानी है।’’

समझौते के तहत संयुक्त कंपनी में पीवीआर के प्रवर्तकों की 10.62 प्रतिशत जबकि आईनॉक्स के प्रवर्तकों की 16.66 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी। विलय के प्रभावी हो जाने के साथ संयुक्त कंपनी में निदेशक मंडल के सदस्यों की संख्या बढ़ाकर 10 की जायेगी।

इसके अलावा दोनों कंपनियों के प्रवर्तक परिवार के दो-दो सदस्यों को निदेशक मंडल में स्थान दिया जाएगा। विलय के बाद बनने वाली कंपनी में पीवीआर के अजय बिजली को प्रबंध निदेशक और संजीव कुमार को कार्यकारी निदेशक नियुक्त किया जाएगा।

पीवीआर के पास वर्तमान में देश के 73 शहरों में 181 संपत्तियां हैं जिसमे वह 871 स्क्रीन का संचालन करती है। वही आईनॉक्स के पास 72 शहरों में स्थित अपनी 160 संपत्तियों में 675 स्क्रीन हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।