राजद्रोह के आरोप में शरजील इमाम को 5 दिन की पुलिस रिमांड

राजद्रोह के आरोप में शरजील इमाम को 5 दिन की पुलिस रिमांड

भड़काऊ भाषण देने वाले जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र शरजील इमाम को दिल्ली की साकेत कोर्ट ने पांच दिन की रिमांड में भेज दिया। मंगलवार को दिल्ली पुलिस की एक टीम ने बिहार के जहानाबाद से शरजील इमाम को गिरफ्तार किया था।

नयी दिल्ली। भड़काऊ भाषण देने वाले जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र शरजील इमाम को दिल्ली की साकेत कोर्ट ने पांच दिन की रिमांड में भेज दिया। मंगलवार को दिल्ली पुलिस की एक टीम ने बिहार के जहानाबाद से शरजील इमाम को गिरफ्तार किया था। जिसके बाद उसे जहानाबाद कोर्ट में पेश किया था। जहां से कोर्ट ने उसे दिल्ली पुलिस को ट्रांजिट रिमांड पर सौंपा था।

आपको बता दें कि शरजील इमाम पर 5 राज्यों में 'देशद्रोह' का मामला दर्ज है। पुलिस ने मुंबई, बिहार समेत कई जगहों पर  शरजील की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की थी।

इसे भी पढ़ें: भड़काऊ भाषण देने वाला शरजील इमाम धर्म के प्रति है कट्टर

16 जनवरी को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में शरजील इमाम ने कथित तौर पर असम और उत्तर पूर्वी राज्यों को भारत से अलग करने का भड़काऊ भाषण दिया था। जिसके बाद असम समेत कई राज्यों में इमाम के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया था। 

वकीलों ने की नारेबाजी

दिल्ली पुलिस जब शरजील इमाम को कोर्ट में पेश करने जा रही थी उस समय वकीलों ने इमाम के खिलाफ नारेबाजी की और उनके हाथों में मौजूद पोस्टरों में उसे ‘देशद्रोही’ कहा गया था। साथ ही उन्होंने उसे फांसी देने की मांग की।

इसे भी पढ़ें: अमित शाह ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, कहा- भ्रम फैला रहे हैं और लोगों को डरा रहे हैं

कौन है शरजील इमाम ?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शरजील इमाम बिहार के जहानाबाद जिले का निवासी बताया जा रहा है और अभी दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय का छात्र है। अभी जेएनयू से शरजील इमाम आधुनिक इतिहास में पीएचडी कर रहा है। इससे पहले इमाम ने आईआईटी बॉम्बे  से कम्प्यूटर साइंस की पढ़ाई की थी और आईआईटी बॉम्बे में असिस्टेंट टीचर भी रह चुका है। शरजील इमाम के फेसबुक पेज के मुताबिक वह एक कम्पनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर का भी काम कर चुका है। जेएनयू से पीएचडी करने वाला इमाम आधुनिक इतिहास में यहां से मास्टर्स और एमफिल भी कर चुका है। 

इसे भी देखें: भड़काऊ भाषण देने वाला शरजील इमाम धर्म के प्रति है कट्टर





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।