समूचे उत्तर भारत में ठंड और कोहरे से जनजीवन प्रभावित, मौसम विभाग ने कहा- सर्दी अभी और बढ़ेगी

समूचे उत्तर भारत में ठंड और कोहरे से जनजीवन प्रभावित, मौसम विभाग ने कहा- सर्दी अभी और बढ़ेगी

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, शहर में मंगलवार सुबह हल्का कोहरा छाया रहा, जबकि हवा में आर्द्रता का स्तर 95 प्रतिशत रहा। अधिकतम तापमान के 16 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

नमस्कार न्यूजरूम में आप सभी का स्वागत है। समूचे उत्तर भारत में इस समय भीषण ठंड पड़ रही है जिससे जनजीवन प्रभावित हुआ है। मैदानी इलाकों में ठंड और कोहरे का अटैक है तो पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी ने जीना मुहाल कर दिया है। यही नहीं मौसम विभाग का तो पूर्वानुमान है कि यह ठंड अभी और बढ़ेगी। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की बात करें तो मौसम सर्द रहने के साथ ही न्यूनतम तापमान 6.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। मौसम विभाग के अनुसार, शहर में मंगलवार सुबह हल्का कोहरा छाया रहा, जबकि हवा में आर्द्रता का स्तर 95 प्रतिशत रहा। अधिकतम तापमान के 16 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है। दिल्ली और उसके आसपास सुबह घना कोहरा छाये रहने से दृश्यता कम रही जिससे ट्रेनों की आवाजाही पर भी असर पड़ा है। राजधानी में कई स्थानों पर लोग ठंड से बचने के लिए हाथ तापते दिखे।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली सहित कई शहरों में मौसम ने ली करवट, ठंडी हवाओं के साथ बारिश से लुढ़का पारा, जानें IMD अलर्ट

उधर, आईएमडी के अनुसार, 26 जनवरी को दिल्ली में बारिश होने की कोई संभावना नहीं है, हालांकि आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रह सकते हैं। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार को राजपथ पर भव्य गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन होना है। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली में कल सुबह हल्का कोहरा भी छाया रह सकता है। मौसम विभाग के अनुसार, अगले पांच दिन में उत्तर पश्चिम तथा मध्य भारत में न्यूनतम तापमान में तीन से पांच डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने की संभावना है, जिससे दिल्ली में ठंड बढ़ सकती है और पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, गुजरात तथा महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में शीत लहर चल सकती है। अगले दो से तीन दिन में पंजाब, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, असम, सिक्किम, मेघालय और त्रिपुरा के कुछ हिस्सों में घने से बहुत घना कोहरा छाने की संभावना है।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में पड़ रही है कड़ाके की ठंड, क्या पहली बार पड़ी है ऐसी सर्दी? लोगों को कब मिलेगी राहत

वहीं राजस्थान के कई हिस्सों में शीत लहर जारी रहने के बीच चित्तौड़गढ़ में सोमवार रात न्यूनतम तापमान 2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार, बीते 24 घंटे में राज्य के अनेक इलाकों में न्यूनतम तापमान में गिरावट आई है। राज्य के ज्यादातर इलाकों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा। वहीं पहाड़ी राज्यों में ताजा बर्फबारी से भी लोगों की मुश्किलें बढ़ी हैं। उत्तराखण्ड की राजधानी देहरादून के चकराता में ज़िला प्रशासन द्वारा बर्फ लगातार हटायी जा रही है तो शिमला के मौसम का मजा लेने के लिए पर्यटक बड़ी संख्या में पहुँचे हैं। दूसरी ओर इस ठंड में हमारे जवान सीमा की सुरक्षा में डटे हुए हैं। गणतंत्र दिवस समारोह से पहले जम्मू सीमा पर बीएसएफ हाई अलर्ट पर है। अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। राष्ट्र विरोधी तत्वों की नापाक गतिविधियों को विफल करने के लिए सुरक्षा बल पूरी तरह से तैयार हैं। बीएसएफ व्यापक सुरंग रोधी अभियान भी चला रही है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।