दिल्ली सहित कई शहरों में मौसम ने ली करवट, ठंडी हवाओं के साथ बारिश से लुढ़का पारा, जानें IMD अलर्ट

दिल्ली सहित कई शहरों में मौसम ने ली करवट, ठंडी हवाओं के साथ बारिश से लुढ़का पारा, जानें IMD अलर्ट

दिल्ली के विभिन्न भागों में शनिवार तड़के हल्की बारिश हुई और न्यूनतम तापमान 11.5 डिग्री सेल्सियस रहा, जो इस मौसम के औसत तापमान से चार डिग्री अधिक है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी।

 दिल्ली में कुछ समय से ठंड का कहर जारी है। पिछले कुछ समय से दिल्ली के मौसम का मिजाज काफी बदला हुई है। अचानक बारिश हो जाती है, और शीत लहर चलने लगती है, जिसमें कारण आम जनजीवन काफी प्रभावित हो जाता है। दिल्ली के विभिन्न भागों में शनिवार तड़के हल्की बारिश हुई और न्यूनतम तापमान 11.5 डिग्री सेल्सियस रहा, जो इस मौसम के औसत तापमान से चार डिग्री अधिक है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी।

 

दिल्ली में  68 मिमी बारिश हुई

दिल्ली में 22 जनवरी तक 68 मिमी बारिश हो चुकी है, जो 1995 के बाद से सर्वाधिक है। 1995 में 69.8 मिमी बारिश हुई थी। सफदरजंग वेधशाला में शनिवार को सुबह आठ बजे तक पांच मिमी बारिश दर्ज की गई है। आईएमडी ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ के चलते पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान में 21 से 23 जनवरी के बीच व्यापक वर्षा होने का अनुमान है। 

 

इसे भी पढ़ें: आतंकी हमले में मारे गए और घायल हुए चीनी पीड़ितों को मुआवजा देगा पाकिस्तान

 

दिल्ली में बढ़ी ठंड

आईएमडी ने आज गरज के साथ बारिश होने का अनुमान जताया है। मौसम विभाग के अनुसार, शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे हवा में आर्द्रता का स्तर 100 प्रतिशत रहा। अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार शनिवार को दिल्ली की वायु गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में दर्ज की गई क्योंकि सुबह नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक 337 था। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली सरकार इस योजना तहत विद्यार्थियों को दे रही है 10 हजार रुपये

वायु गुणवत्ता सूचकांक पर असर

पड़ोसी शहरों में भी शनिवार सुबह वायु गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में रही। फरीदाबाद का वायु गुणवत्ता सूचकांक 350, गाजियाबाद का 313, गुड़गांव का 306 और नोएडा का 307 रहा। शून्य और 50 के बीच एक्यूआई को अच्छा , 51 और 100 के बीच संतोषजनक , 101 और 200 के बीच मध्यम , 201 और 300 के बीच खराब , 301 और 400 के बीच बहुत खराब तथा 401 और 500 के बीच गंभीर श्रेणी में माना जाता है।

दिल्ली सहित कई राज्यों में बारिश 

पश्चिमी विक्षोभ के असर के चलते बीते चौबीस घंटे में राजस्थान के कई हिस्सों में बारिश हुई। सबसे अधिक 41 मिलीमीटर बारिश सीकर में दर्ज की गई। एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी। मौसम विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि एक नए पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से पिछले 24 घंटों में राज्य के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गई है। इस दौरान सीकर में 41 मिमी, अजमेर में 16 मिमी, पिलानी में 10.3 मिमी, बीकानेर में 10.1 मिमी व जायल (नागौर) में 15 मिमी बारिश दर्ज की गई। 

उन्होंने बताया कि इस दौरान राज्य के कई दूसरे हिस्सों में भी हल्की बारिश हुई। प्रवक्ता ने बताया किराजधानी जयपुर में गत शुक्रवार की रात 8.2 मिमी बारिश हुई व शनिवार को भी हल्के बादल छाए रहे। विभाग ने शनिवार को राज्य के जयपुर, भरतपुर व बीकानेर संभाग के कुछ जिलों में मेघगर्जन के साथ हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना जताई है। वहीं रविवार को भरतपुर, जयपुर संभाग के उत्तरी भागों में छिटपुट बारिश संभव है। मौसम में आए बदलाव के कारण राज्य में न्यूनतम तापमान में 23-24 जनवरी से दो से पांच डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट आ सकती है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।