बिहार में राजनीतिक अस्थिरता पैदा करने में लगा हताश विपक्ष, नीतीश को 2025 तक जनादेश: सुशील

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2022   22:41
बिहार में राजनीतिक अस्थिरता पैदा करने में लगा हताश विपक्ष, नीतीश को 2025 तक जनादेश: सुशील

सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि जब प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल कई बार स्पष्ट कर चुके हैं कि बिहार में एनडीए सरकार नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही कार्यकाल पूरा करेगी, तब भी यह झूठ फैलाते रहना थोथी दलीलें हैं कि भाजपा बीच में ही अपना मुख्यमंत्री बनवाना चाहती है।

पटना। भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने विपक्ष पर हताशा में बिहार में राजनीतिक अस्थिरता पैदा करने का आरोप लगाते हुए सोमवार को कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को 2025 तक के लिए जनादेश है और प्रदेश की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी। सुशील ने ट्वीट कर कहा, ‘‘जब प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल कई बार स्पष्ट कर चुके हैं कि बिहार में एनडीए सरकार नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही कार्यकाल पूरा करेगी, तब भी यह झूठ फैलाते रहना थोथी दलीलें हैं कि भाजपा बीच में ही अपना मुख्यमंत्री बनवाना चाहती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री को लेकर निराधार अटकलबाजी जारी रखना दुर्भाग्यपूर्ण है। इस शरारत का कुछ असर विधानसभा के बोचहां उपचुनाव पर भी पड़ा होगा।’’

सुशील ने कहा, ‘‘बिहार विधानसभा का 2020 का चुनाव एनडीए ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नाम पर लड़ा था। लोगों ने इस पर भरोसा किया। जब एनडीए को नीतीश कुमार के नेतृत्व में काम करने का जनादेश 2025तक के लिए है, तब किसी किंतु-परंतु के साथ बीच में बदलाव का कोई सवाल ही नहीं है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘विपक्ष के पास नीतीश सरकार के विरुद्ध न कोई ठोस मुद्दा है न सदन में संख्या बल और न लालू-राबड़ी राज की विफलताओं के कारण उसके पास आलोचना का कोई नैतिक बल ही है। ऐसे में वह नीतीश कुमार के पद से हटने की तरह-तरह की बेतुकी अटकलों को हवा देकर सिर्फ राजनीतिक अस्थिरता पैदा करना चाहता है।’’ उल्लेखनीय है कि लोक जनशक्ति पार्टी के पूर्व अध्यक्ष चिराग पासवान ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के राजद नेता तेजस्वी यादव की इफ्तार दावत में शामिल होने और उनका मुख्यमंत्री आवास से दूसरे आवास में सामान हस्तांतरित किए जाने के बाद मुख्यमंत्री द्वारा जल्द ही एक बड़ा राजनीतिक निर्णय लिये जाने की भविष्यवाणी की थी। 

अपने दिवंगत पिता रामविलास पासवान के नेतृत्व वाली पार्टी लोजपा के एक धड़े के प्रमुख चिराग ने 24 अप्रैल को पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा था कि नीतीश का अपने आवास से पूर्वी मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर आयोजित इफ्तार में शामिल होने के लिए पैदल चलकर जाना और अगले ही दिन अमित शाह का पटना आने का जो कार्यक्रम था, ये तमाम बातें महज एक संयोग नहीं हो सकती है और उतनी सरल नहीं प्रतीत हो रही हैं, जैसा उन्हें बताया जा रहा है। चिराग ने कहा था कि यकीनन एनडीए में सबकुछ ठीक नहीं है। उन्होंने यह भी कहा था, ‘‘मुख्यमंत्री बड़े आदमी हैं, उनके पास अनेक घर और अनेक घरों की संभावनाएं हैं, पर जिस तरीके से उन्होंने मुख्यमंत्री आवास खाली किया है, यह किसी और तरफ इशारा करता है। उतनी सरल यह तस्वीर नहीं, जितनी यह दिखती या दिखायी जा रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।