डीजीसीआई ने कहा- ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीका के दूसरे, तीसरे चरण के परीक्षण प्रोटोकॉल को संशोधित किया जाए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 30, 2020   07:32
डीजीसीआई ने कहा- ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीका के दूसरे, तीसरे चरण के परीक्षण प्रोटोकॉल को संशोधित किया जाए

कोविड-19 पर गठित विषय विशेषज्ञ समिति की मंगलवार को एसआईआई के आवेदन पर चर्चा के लिए बैठक हुई। इसमें पुणे की कंपनी से कहा गया कि वह दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षण के लिए तैयार प्रोटोकॉल की समीक्षा करे और इसके साथ ही कुछ अतिरिक्त जानकारी भी मांगी गई।

केन्द्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की विशेष समिति ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) से उस आवेदन पर स्पष्टीकरण मांगा है, जिसमें उसने भारत के औषधि महानियंत्रक (डीजीसीआई) से ऑक्सफोर्ड द्वारा कोविड-19 के लिए विकसित संभावित टीके के दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षण के लिए अनुमति मांगी है। आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोविड-19 पर गठित विषय विशेषज्ञ समिति की मंगलवार को एसआईआई के आवेदन पर चर्चा के लिए बैठक हुई। इसमें पुणे की कंपनी से कहा गया कि वह दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षण के लिए तैयार प्रोटोकॉल की समीक्षा करे और इसके साथ ही कुछ अतिरिक्त जानकारी भी मांगी गई।

इसे भी पढ़ें: राहत की खबर! ऑक्सफोर्ड विवि ने पब्लिश किए COVID-19 vaccine के ट्रायल रिजल्ट,कोरोना टीका है सुरक्षित

उन्होंने बताया कि बुधवार शाम को परीक्षण के लिएएसआईआई ने संशोधित प्रोटोकॉल डीजीसीआई के समक्ष जमा कराई। आधिकारिक सूत्रों ने बताया, ‘‘कंपनी से मंगलवार को प्रोटोकॉल में उल्लेखित दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षण को परिभाषित करने को कहा गया और मूल्यांकन के लिए दोबारा आवदेन एसईसी में जमा कराने को कहा गया।’’ सूत्रों ने बताया कि समिति ने चिकित्सकीय परीक्षण के स्थानों का वितरण पूरे देश में करने की अनुसंशा की। सूत्रों ने बताया, ‘‘ उन्होंने परीक्षण के दौरान प्रस्तावित पंजीकृत 1,600 प्रतिभागियों को लेकर भी स्पष्टीकरण नहीं दिया। एसआई आई में सरकारी मामलों के अतिरिक्त निदेशक प्रकाश कुमार सिंह ने कहा, ‘‘हमने एसईईसी की आगे कार्रवाई के लिए आज शाम संशोधित प्रोटोकॉल डीजीसीआई कार्यालय में जमा कराया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।