सीएम चन्नी और सिद्धू में मतभेद जारी, पंजाब में उम्मीदवारों का नाम फाइनल नहीं कर पा रही कांग्रेस

सीएम चन्नी और सिद्धू में मतभेद जारी, पंजाब में उम्मीदवारों का नाम फाइनल नहीं कर पा रही कांग्रेस

पार्टी ने शेष 31 सीटों के लिए पार्टी के उम्मीदवारों पर चर्चा करने के लिए एक उप-समिति का गठन किया है। समिति में केसी वेणुगोपाल, अंबिका सोनी और पंजाब की कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन शामिल हैं।

कांग्रेस के लिए पंजाब में मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। पंजाब विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान भी हो गया है। 20 फरवरी में पंजाब में विधानसभा के चुनाव होने हैं। इन सबके बीच कांग्रेस का अंतर्तकलह थमने का नाम नहीं ले रहा है। प्रत्याशियों के चयन के लिए कांग्रेस की ओर से शनिवार को एक बैठक बुलाई गई थी। हालांकि यह बैठक अनिर्णायक रही। सूत्रों के मुताबिक पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 के लिए उम्मीदवारों के चयन के लिए बुलाई गई कांग्रेस मुख्य चुनाव समिति की बैठक पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू और मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के बीच मतभेद के कारण अनिर्णायक रही।

न्यूज एसेंसी एएनआई के मुताबिक पार्टी ने शेष 31 सीटों के लिए पार्टी के उम्मीदवारों पर चर्चा करने के लिए एक उप-समिति का गठन किया है। समिति में केसी वेणुगोपाल, अंबिका सोनी और पंजाब की कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन शामिल हैं। दूसरी ओर मुख्यमंत्री उम्मीदवार को लेकर भी पंजाब कांग्रेस में घमासान है। कांग्रेस की राज्य इकाई में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा किए जाने की मांग लगातार बढ़ रही है और पार्टी के कई वरिष्ठ नेता अनुसूचित जाति समुदाय से संबंध रखने वाले राज्य के पहले मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को अपना समर्थन दे रहे हैं। कांग्रेस आला कमान का अभी तक यही कहना है कि पार्टी 117 सदस्यीय विधानसभा के लिए 20 फरवरी को होने वाला चुनाव ‘‘सामूहिक नेतत्व’’ में लड़ेगी।

इसे भी पढ़ें: अमित मालवीय ने साझा किया सिद्धू के सलाहकार का विवादित बयान, बोले- इसलिए पंजाब के लिए खतरनाक हैं ये

सिद्धू का बयान

पंजाब में राज्य कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि सीएम उम्मीदवार पर फैसला करने के लिए हाईकमान होता है। मैंने पंजाब को किसी भी पद के लिए मॉडल नहीं बनाया। मैं पंजाब के बारे में सोचता रहता हूं। पंजाब मेरा जुनून है। मेरा इरादा राज्य के विकास के लिए काम करना है। उन्होंने कहा कि आगामी चुनाव में रोजगार सबसे बड़ा मुद्दा है। हम राज्य में कौशल प्रधान उद्यमिता पैदा करेंगे और इसे खेलों से जोड़ेंगे। पंजाब मॉडल मनमोहन सिंह जी के विकास के दृष्टिकोण से प्रेरित है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।