DMK की केंद्र और तमिलनाडु सरकार से अपील, कहा- लॉकडाउन पर आगे की रणनीति जल्द करें घोषित

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 30, 2020   15:53
DMK की केंद्र और तमिलनाडु सरकार से अपील, कहा- लॉकडाउन पर आगे की रणनीति जल्द करें घोषित

द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन ने कहा कि लॉकडाउन को आगे बढ़ाने या पाबंदियों में ढील दिये जाने के विषय पर केंद्र और राज्य सरकार को अपने फैसले की घोषणा लोगों के हित में ‘बगैर देर किये’ करनी चाहिए।

चेन्नई। तमिलनाडु में विपक्षी द्रमुक ने तीन मई को खत्म होने जा रहे लॉकडाउन पर बृहस्पतिवार को केंद्र और राज्य सरकार से आगे की रणनीति पर शीघ्र फैसला करने और उसकी घोषणा करने की मांग करते हुए कहा कि इससे लोगों के बीच अनावश्यक भ्रम नहीं पैदा होगा। द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन ने कहा कि लॉकडाउन को आगे बढ़ाने या पाबंदियों में ढील दिये जाने के विषय पर केंद्र और राज्य सरकार को अपने फैसले की घोषणा लोगों के हित में ‘बगैर देर किये’ करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि समय रहते यह घोषणा कर देने से लोगों में दहशत और अनावश्यक भ्रम को टाला जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: स्टालिन पर भड़के तमिलनाडु के मंत्री वेलुमणि, बोले- बेतुकी बयानबाजी बंद करो 

उन्होंने एक बयान में कहा कि चूंकि लॉकडाउन का दूसरा चरण सोमवार को समाप्त होने जा रहा है, ‘‘ऐसे में लोगों के बीच यह उम्मीद और भ्रम की स्थिति है कि इसे आगे बढ़ाया जाएगा या इसमें क्रमिक रूप से छूट दी जाएगी।’’विपक्ष के नेता ने कहा, ‘‘35 से अधिक दिनों से अपने घरों में बंद लोगों की मानसिक दशा और आजीविका को ध्यान में रखते हुए केंद्र और राज्य सरकार को लॉकडाउन पर एक फैसला करना चाहिए और बगैर देर किये उसकी घोषणा करनी चाहिए।’’उन्होंने यह भी कहा कि सरकार कोरोना वायरस महामारी से लोगों को बचाने के लिये जो भी फैसला करेगी, उसका पालन करना लोगों का कर्तव्य है।

इसे भी देखें : Coronavirus के 6 नये लक्षणों की हुई पहचान, गौर से देखें यह खास रिपोर्ट 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।