डॉ अशोक तंवर ने लॉन्च किया अपना भारत मोर्चा, बोले- मौन आवाम की बनेगा आवाज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 25, 2021   16:24
डॉ अशोक तंवर ने लॉन्च किया अपना भारत मोर्चा, बोले- मौन आवाम की बनेगा आवाज

डाॅ तंवर ने कहा कि अफसोस की बात है कि हमारा देश एक निराशा के माहौल में फंसा हुआ है। युवाओं को और उनकी आकांक्षाओं को आपराधिक तरीके से अनदेखा किया जा रहा है।

जींद। (प्रेस विज्ञप्ति) आज भारत अव्यवस्था, भ्रम और अभूतपूर्व सामाजिक-राजनीतिक एवं पहचान संकट के चैराहे पर खड़ा है। ऐसे में, आज अपना भारत मोर्चा (एबीएम) के लांच के साथ एक ऐसे भारत के निर्माण की शुरुआत हो रही है जो लोचदार है और सभी पहलुओं पर समावेशी है, यहां गुरुवार को डॉ अशोक तंवर ने कहा। 

इसे भी पढ़ें: खट्टर के खिलाफ अविश्वास से बढ़ेगा ED के शिकंजे में फंसे हुड्डा का विश्वास 

सिरसा, हरियाणा के पूर्व सांसद डॉ तंवर ने कहा, “अपना भारत मोर्चा मूल्यों पर आधारित एक पहल है और इसके तीन स्तंभ हैं- संवाद, बहस और चर्चा। यह मोर्चा न केवल अनेकता में एकता के भारतीय मूल्यों को बल देगा बल्कि हमारे देश को आशाओं और पूर्तियों की धरती बनाने की दिशा में एक आधारशिला के तौर पर काम भी करेगा।“

गुरुवार को काॅन्स्टीट्यूशन क्लब में अपना भारत मोर्चा का लांच कार्यक्रम हुआ। बड़ी तादाद में युवाओं और समान सोच रखने वाले अन्य लीडरों ने इस कार्यक्रम में शिरकत की जिनमें त्रिपुरा पीसीसी के पूर्व अध्यक्ष किरीट प्रद्योत देब बर्मन भी शामिल थे। यह लांच कार्यक्रम सोशल मीडिया प्लैटफाॅम्र्स के जरिए लाइव स्ट्रीम किया गया। हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड, राजस्थान, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, बिहार, गुजरात और ओडिशा से बड़ी संख्या में इस लांच कार्यक्रम में ऑनलाइन शामिल हुए। 

इसे भी पढ़ें: हरियाणा सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी कांग्रेस: भूपेन्द्र सिंह हुड्डा 

अपना भारत मोर्चा के लांच की जरूरत पर प्रकाश डालते हुए डाॅ तंवर ने कहा कि अफसोस की बात है कि हमारा देश एक निराशा के माहौल में फंसा हुआ है। युवाओं को और उनकी आकांक्षाओं को आपराधिक तरीके से अनदेखा किया जा रहा है। सकारात्मक ऊर्जाओं को संगठित व स्पष्ट करने के लिए एक मंच की आवश्यकता थी ताकि युवाओं की आकांक्षाओं की वृद्धि एवं पूर्ति हो सके; क्योंकि युवा पीढ़ी ही राष्ट्र की रीढ़ है।’’

डाॅ तंवर ने कहा कि अपना भारत मोर्चा सकारात्मक बदलावों के एक प्रतिनिधि के तौर पर काम करेगा और मौन आवाम की आवाज़ बनेगा। यह एक गतिशील, मूल्य-आधारित मंच होगा, यह विविध स्वरों और दृष्टिकोणों को एकजुट करेगा, जिन्हें मुख्यधारा के राजनीतिक दलों द्वारा अनदेखा किया जा रहा है। यह मोर्चा वर्तमान नेतृत्व की उदासीनता और विचारधाराओं के उत्पीड़न के खिलाफ एक आंदोलन है। 

इसे भी पढ़ें: भाकयू नेता जसतेज सिंह संधू पर बाइक सवार हमलावरों ने चलाई गोली, बाल-बाल बची जान 

पूर्व सांसद डाॅ अशोक तंवर ने यह भी कहा, ’’हम देश के समग्र एवं समावेशी विकास पर ध्यान केन्द्रित करेंगे। हमारा नारा है ’नई सोच, नई दिशा, और नई राजनीति’। मेरा दृढ़ विश्वास है कि भारत सिर्फ अपनी मिश्रित संस्कृति को अपना कर ही दूसरे देशों के लिए उदाहरण बन सकता है। हम देशभक्ति में यकीन करते हैं लेकिन संकीर्ण राष्ट्रवाद में नहीं, जो हमारे अपने ही लोगों को जाति, धर्म व प्रदेश के आधार पर विभाजित करे।’’

डाॅ तंवर ने कहा कि अपने संकल्प को दोहराते और अपना भारत मोर्चा के विज़न डाॅक्यूमेंट का विमोचन करते हुए डाॅ तंवर ने कहा कि यह प्रगतिशील, जनतांत्रिक, उदार और तार्किक स्वरों का मंच है। ’’हम कैपिटल में विश्वास करते हैं क्रोनी कैपिटलिज़्म में नहीं। हम अवसरों में यकीन करते हैं, अवसरवादिता में नहीं। हम किसी जाति के खिलाफ नहीं, जातिवाद के खिलाफ हैं। हम आत्म सम्मान एवं मर्यादा की राजनीति में विश्वास रखते हैं। राजनीति में नकारातमक तात्पर्य नहीं होने चाहिए। अपना भारत मोर्चा सभी स्टेकहोल्डरों के लिए सही मायनों में मूल्य आधारित मोर्चा होने जा रहा है, जो एक समावेशी भारत के निर्माण की कामना करते हैं और उसके लिए प्रतिबद्ध हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।