इंदौर में धीरे-धीरे रफ्तार पकड़ रहीं आर्थिक गतिविधियां, कोरोना संक्रमितों की तादाद 3,182 हुई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 27, 2020   12:50
इंदौर में धीरे-धीरे रफ्तार पकड़ रहीं आर्थिक गतिविधियां, कोरोना संक्रमितों की तादाद 3,182 हुई

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने बताया कि जिले में पिछले 24 घंटे के दौरान इस महामारी के 79 नये मरीज मिले हैं। इसके साथ ही, इंदौर में मरीजों की तादाद 3,103 से बढ़कर 3,182 हो गयी है।

इंदौर। देश में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में प्रशासन ने लॉकडाउन में कुछ शर्तों के साथ छूट में इजाफा कर दिया है। नतीजतन दो महीने के ठहराव के बाद आर्थिक गतिविधियां धीरे-धीरे रफ्तार पकड़ रही हैं। अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि जिलाधिकारी मनीष सिंह ने डोमिनोज, जोमैटो और स्विगी सरीखी कम्पनियों को पके भोजन की घर-घर आपूर्ति की अनुमति दे दी है। यह आपूर्ति ऑनलाइन बुकिंग एवं भुगतान के आधार पर की जायेगी। अधिकारियों के मुताबिक जिला प्रशासन ने इंदौर नगर निगम की सीमा के बाहर शासकीय और निजी क्षेत्र के सभी निर्माण कार्य शुरू करने की मंजूरी भी प्रदान की है। उन्होंने बताया कि जिले के शासकीय, अर्ध शासकीय एवं विभिन्न निगमों से जुड़े विभागों के कार्यालयों को खोलने के संबंध में निर्देश जारी किये गये हैं। 

इसे भी पढ़ें: देश में कोरोना के मामले डेढ़ लाख के पार, अब तक 4,337 मरीजों की मौत 

निर्देशों के अनुसार इन कार्यालयों में 50 प्रतिशत तक कर्मचारियों और शत-प्रतिशत अधिकारियों को ड्यूटी पर बुलाया जा सकता है। कोरोना वायरस को काबू करने के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को समाप्त हो रहा है। अधिकारियों का कहना है कि जिले में इस तारीख के बाद लॉकडाउन की मियाद बढ़ाने पर महामारी के हालात देखते हुए फैसला किया जायेगा। इस बीच, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने बताया, जिले में पिछले 24 घंटे के दौरान इस महामारी के 79 नये मरीज मिले हैं। इसके साथ ही, इंदौर में मरीजों की तादाद 3,103 से बढ़कर 3,182 हो गयी है। 

इसे भी पढ़ें: गृह मंत्रालय ने राज्यों से कहा, विदेश से लौटे भारतीयों को होटलों से बकाया पैसा दिलाया जाए

उन्होंने यह भी बताया कि कोविड-19 से संक्रमित पायी गयीं दो महिलाओं की अलग-अलग अस्पतालों में पिछले चार दिनों में इलाज के दौरान मौत हो गयी। इनमें से एक महिला की आयु 76 वर्ष और एक अन्य महिला की आयु 65 वर्ष थी। जिले में इस महामारी की चपेट में आकर दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 119 पर पहुंच गयी है। सीएमएचओ ने बताया कि इलाज के बाद संक्रमणमुक्त होने पर जिले में कोविड-19 के 1,537 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है। कोविड-19 का प्रकोप कायम रहने के कारण इंदौर जिला रेड जोन में बना हुआ है। जिले में कोरोना वायरस के प्रकोप की शुरूआत 24 मार्च से हुई, जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।