अपने उम्मीदवार को बेवजह बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर रही है भाजपा: मल्लिकार्जुन खड़गे

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 21 2019 5:24PM
अपने उम्मीदवार को बेवजह बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर रही है भाजपा: मल्लिकार्जुन खड़गे
Image Source: Google

विपक्षी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि कथित धनबल के इस्तेमाल के बावजूद वह चुनाव जीतेंगे क्योंकि लोग उन्हें पिछले 50 वर्षों से जानने के साथ ही उनके द्वारा अभी तक कराये गए विकास कार्यों के बारे में भी जानते हैं।

कलबुर्गी। विपक्षी नेता एवं कांग्रेस के वर्तमान सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने रविवार को विश्वास जताया कि वह चुनाव जीत जाएंगे। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि वह सुरक्षित गुलबर्गा संसदीय सीट से अपने उम्मीदवार उमेश जाधव को बेवजह बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर रही है। खड़गे ने वाडी में कहा कि भाजपा जाधव के गुलबर्गा आरक्षित सीट जीतने को लेकर झूठमूठ में हवा फैला रही है। खड़गे वाडी में एक सूफी धर्मगुरु के घर पर दोपहर के भोजन के लिए रुके थे। खड़गे ने कहा कि कथित धनबल के इस्तेमाल के बावजूद वह चुनाव जीतेंगे क्योंकि लोग उन्हें पिछले 50 वर्षों से जानने के साथ ही उनके द्वारा अभी तक कराये गए विकास कार्यों के बारे में भी जानते हैं। 

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: CWC की बैठक में पहुंचे राहुल समेत दिग्गज नेता, घोषणापत्र को दिया जाएगा अंतिम रूप

उन्होंने कहा कि चुनाव बिल्कुल भी मुश्किल नहीं है। यह हवा आरएसएस और भाजपा नेताओं द्वारा फैलायी गई है। मैं चुनाव जीतने जा रहा हूं। लोग मुझे पिछले 50 वर्षों से जानते हैं। वे मेरे द्वारा कराये गए विकास कार्य के बारे में जानते हैं चाहे वह केंद्रीय विश्वविद्यालय, ईएसआई अस्पताल, डेंटल एवं मेडिकल कालेज या कौशल विकास केंद्र स्थापित करने को लेकर हो। इसलिए मेरे खिलाफ ऐसी हवा नहीं चलेगी। कांग्रेस के 77 वर्षीय नेता 12वीं बार चुनाव मैदान में हैं। खड़गे के मुख्य प्रतिद्वंद्वी पूर्व कांग्रेसी विधायक जाधव हैं जो हाल में भाजपा में शामिल हुए थे। यह पूछे जाने पर कि भाजपा और आरएसएस ने ऐसी हवा क्यों फैलायी, खड़गे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को क्षेत्र में उनके प्रदर्शन को लेकर ‘‘डर’’ है।

इसे भी पढ़ें: सातवीं बार भी लोकपाल चयन समिति की बैठक में नहीं जाएंगे खड़गे



खड़गे ने एक सवाल के जवाब में कहा कि मल्लिकैयाह गुट्टेदार और जाधव सहित तीन अन्य नेताओं के भाजपा में शामिल होने का उनकी चुनावी संभावनाओं पर कोई असर नहीं होगा क्योंकि वह चुनाव पार्टी की विचारधारा के आधार पर लड़ रहे हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के  व्यक्तिवादी  और  तानाशाही शासन  का विरोध करती है। उन्होंने कहा कि आरएसएस का दर्शन भारतीय स्वीकार नहीं करेंगे जो संविधान नहीं बल्कि मनुस्मृति में विश्वास करता है जो कि देश के लिए खतरनाक है। क्षेत्र में अपने पुत्र प्रियंक खड़गे को प्रोत्साहित करने के आरोपों पर खड़गे ने कहा कि कांग्रेस के नेता और आलाकमान उनके पुत्र को राजनीति में लाए और मीडिया एवं विपक्षी दलों द्वारा यह कहना अनुचित होगा कि वह वंशवादी राजनीति कर रहे हैं। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video