PM मोदी के अन्न योजना विस्तार को नड्डा ने बताया दूरदर्शी, कहा- यह गरीबों के प्रति कटिबद्धता को दर्शाता है

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 30, 2020   18:54
PM मोदी के अन्न योजना विस्तार को नड्डा ने बताया दूरदर्शी, कहा- यह गरीबों के प्रति कटिबद्धता को दर्शाता है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इससे पहले राष्ट्र को संबोधित करते हुए ऐलान किया कि ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ का विस्तार नवम्बर महीने के आखिर तक कर दिया गया है।

नयी दिल्ली। ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ का नवम्बर तक विस्तार किए जाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले को ‘‘दूरदर्शी’’ बताते हुए भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मंगलवार को कहा कि यह कदम गरीबों के उत्थान के लिए उनकी कटिबद्धता को दर्शाता है। नड्डा ने योजना के विस्तार के लिए प्रधानमंत्री का धन्यवाद करते हुए सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, ‘‘देश के 80 करोड़ गरीबों के सशक्तिकरण के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अगले पांच महीनों तक जारी रखने का प्रधानमंत्री का दूरदर्शी निर्णय एक स्वागत योग्य कदम है, जो गरीबों के उत्थान के लिए उनकी कटिबद्धता और संवेदनशीलता को दर्शाता है।’’ मोदी ने इससे पहले राष्ट्र को संबोधित करते हुए ऐलान किया कि ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ का विस्तार नवम्बर महीने के आखिर तक कर दिया गया है। इससे 80 करोड़ लोगों को और पांच महीनों तक मुफ्त राशन मिलेगा।

इसे भी पढ़ें: RGF को लेकर JP नड्डा ने कांग्रेस पर तेज किए हमले, सोनिया गांधी से पूछे 10 सवाल 

नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने बहुत ही ‘‘सजगता’’ और ‘‘संवेदनशीलता’’ के साथ कोरोना महामारी में देश का नेतृत्व का किया है। उन्होंने कहा, ‘‘इसी दिशा में आगे बढ़ते हुए आज प्रधानमंत्री जी ने जरूरतमंद परिवारों के लिए फ्री अनाज की व्यवस्था को अगले पांच माह के लिए बढ़ा दिया है। इस निर्णय के लिए मैं पुनः उनका कोटि-कोटि आभार व्यक्त करते हुए हार्दिक अभिनंदन करता हूं। गरीब कल्याण पैकज के तहत अप्रैल 2020 से शुरू की गई इस योजना पर नवंबर 2020 तक लगभग 1.50 लाख करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी द्वारा इस संक्रमण काल में जान और जहान दोनो को बचाने हेतु किए गए हरसंभव प्रयास के लिए हम उनका अभिनंदन करते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।