फडणवीस ने शिवसेना को बताया मजबूर, कहा- हिंदुत्व के लिए करना होगा भाजपा से गठबंधन

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Oct 24 2018 7:54AM
फडणवीस ने शिवसेना को बताया मजबूर, कहा- हिंदुत्व के लिए करना होगा भाजपा से गठबंधन
Image Source: Google

उन्होंने कहा कि जिस किसी को भी राजनीति की सामान्य समझ है वो जानते हैं कि भाजपा और शिवसेना चुनाव जीतने के लिए एक साथ लड़ेंगे। मुख्यमंत्री हिन्दी समाचार चैनल द्वारा आयोजित ‘मुंबई मंथन’ कार्यक्रम में बोल रहे थे।

मुम्बई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने मंगलवार को कहा कि केंद्र और महाराष्ट्र में भाजपा नीत सरकारों की लगातार आलोचनाओं के बावजूद शिवसेना 2019 के चुनाव में हिन्दुत्व के मुद्दे पर भाजपा के साथ गठबंधन करेगी। उन्होंने अयोध्या में एक भव्य राम मंदिर निर्माण का भी पुरजोर समर्थन किया।



उन्होंने कहा कि जिस किसी को भी राजनीति की सामान्य समझ है वो जानते हैं कि भाजपा और शिवसेना चुनाव जीतने के लिए एक साथ लड़ेंगे। मुख्यमंत्री हिन्दी समाचार चैनल द्वारा आयोजित ‘मुंबई मंथन’ कार्यक्रम में बोल रहे थे।
 
महाराष्ट्र के 180 तालुकों में सूखे जैसी स्थिति: देवेंद्र फड़णवीस
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने मंगलवार को कहा कि राज्य के करीब 180 तालुके सूखे जैसी स्थिति का सामना कर रहे हैं। फड़णवीस ने कहा कि केंद्र द्वारा तय किए गए मानदंडों के आधार पर इन तालुकों की पहचान की गई है। स्थिति इसलिए खराब हुई है क्योंकि राज्य में इस साल कम बारिश हुई है। विपक्षी कांग्रेस ने स्थिति पर भाजपा नीत सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि सरकार को राज्य में सीधे सूखा घोषित करना चाहिए और स्थिति को बताने के लिए ‘कमी जैसी’ या ‘सूखा जैसी’ शब्दावली का इस्तेमाल करना बंद करना चाहिए।
 


 
फड़णवीस ने साप्ताहिक कैबिनेट बैठक के बाद यहां पत्रकारों से कहा, ‘‘ महाराष्ट्र में सूखे की स्थिति बन गई है। राज्य में वार्षिक औसत की केवल 77 प्रतिशत बारिश हुई है। मैंने केंद्र के मानदंडों के अनुसार 180 तालुकों को सूखे जैसी स्थिति का सामना करने वाला घोषित किया है और स्थिति के मद्देनजर तत्काल कदम उठाए जा रहे हैं।’’
 


 
क्या कर रही सरकार
राज्य में 36 जिलों में से 350 से ज्यादा तालुके हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने राहत उपाय शुरू कर दिए हैं जिसमें भूमि राजस्व, शिक्षण फीस में रियायत, कृषि पंपों के लिए बिजली की आपूर्ति जारी रखना और पीने के पानी के लिए टैंकरों को तैनात करना शामिल है। फड़णवीस ने कहा कि केंद्र सरकार की टीम जल्द राज्य का दौरा करेगी और स्थिति से निपटने के लिए वित्तीय सहायता घोषित करेगी। जल संसाधन विभाग की रिपोर्ट पर विपक्ष की आलोचना के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में बीते तीन साल में कम बारिश हुई है।
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video