भड़काऊ भाषण देने के आरोप में शरजील इमाम के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 27, 2020   14:30
भड़काऊ भाषण देने के आरोप में शरजील इमाम के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

पुलिस ने कहा कि इमाम के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (भादंसं) की धारा 121 ए (भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने की साजिश), 124 ए (राजद्रोह), 120 बी (आपराधिक षड्यंत्र) और 153 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इम्फाल। संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान भड़काऊ भाषण देने के आरोपी, जेएनयू के पूर्व छात्र शरजील इमाम के खिलाफ मणिपुर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की है। पुलिस ने कहा कि इमाम के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (भादंसं) की धारा 121 ए (भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने की साजिश), 124 ए (राजद्रोह), 120 बी (आपराधिक षड्यंत्र) और 153 के तहत मामला दर्ज किया गया है। धारा 153 “ अशांति लाने की मंशा से विभिन्न धार्मिक समूहों के बीच शत्रुता पैदा करने” से संबंधित है।

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल बताएं, भारत को तोड़ने की चाह रखने वालों का समर्थन क्यों कर रहे : नड्डा

यह प्राथमिकी 16 जनवरी को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में दिए गए उसके भाषण के लिए शनिवार को दर्ज की गई।

मणिपुर के मुख्यमंत्री के सलाहकार रजत सेठी ने ट्वीट किया, “शरजील इमाम के आपत्तिजनक वीडियो का संज्ञान लेते हुए, जिसमें वह पूर्वोत्तर को देश से अलग करने की धमकी दे रहा है, मणिपुर पुलिस ने धारा 121/ 121-ए/ 124-ए/ 120-बी/ 153 के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।”

इसे भी पढ़ें: हरि नगर के विधायक जगदीप सिंह ने वापस लिया इस्तीफा, AAP में ही बने रहेंगे

मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने उनके ट्वीट को शेयर किया। शरजील के कथित भड़काऊ भाषण सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद उसके खिलाफ राजद्रोह के आरोप लगाए गए हैं। इन भाषणों में उसे संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के मद्देनजर असम को भारत से अलग करने के बारे में बोलते हुए सुना जा सकता है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।