कूड़े के पहाड़ में आग, भाजपा पार्षदों और महापौरों के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही की मांग

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 28, 2022   09:52
कूड़े के पहाड़ में आग, भाजपा पार्षदों और महापौरों के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही की मांग
google free license

आम आदमी पार्टी ने बुधवार को मांग की कि दिल्ली की सीमा पर स्थित कूड़े के पहाड़ों में आये दिन आग लगने के मामलों में तीनों नगर निगमों के भाजपा पार्षदों और महापौरों के खिलाफ आपराधिक र्कायवाही शुरू की जाये।

नयी दिल्ली। आम आदमी पार्टी ने बुधवार को मांग की कि दिल्ली की सीमा पर स्थित कूड़े के पहाड़ों में आये दिन आग लगने के मामलों में तीनों नगर निगमों के भाजपा पार्षदों और महापौरों के खिलाफ आपराधिक र्कायवाही शुरू की जाये। उत्तरी दिल्ली में मंगलवार को भलस्वा लैंडफिल में बड़े पैमाने पर आग लगने की घटना के बाद आप ने यह मांग की है।उल्लेखनीय है कि इसी तरह हाल ही में गाजीपुर स्थित कचरे के पहाड़ में भी हाल ही में आग लगी थी।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में अब तक करीब 11 हजार ‘अवैध’ लाउडस्पीकर हटाए गए

आप नेता दुर्गेश पाठक ने कहा कि भाजपा के तहत आने वाले तीन नगर निकायों में दिन प्रतिदिन पहाड़ का रूप लेते जा रहे तीनों कूड़ा केंद्र भ्रष्टाचार का प्रत्यक्ष सबूत हैं। पाठक ने कहा, ‘‘भाजपा ने दिल्ली की जनता को तोहफे में केवल कूड़े के पहाड़ दिए। लेकिन इन कूड़ा केंद्रों में आये दिन आग लगना आम बात हो गयी है।’’

इसे भी पढ़ें: 'मोदी के गुरु' संभाजी भिड़े हुए चोटिल, साइकिल चलाते वक्त अचानक आया चक्कर

पाठक ने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) मांग करती है कि नगर निगामों के भाजपा पार्षदों और महापौरों के खिलाफ इस मामले में आपराधिक कार्यवाही की जाये। इसके पहले दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा था कि भाजपा शासित नगर निगमों को कचरे के पहाड़ों को साफ करने के लिए बुलडोजर इस्तेमाल करना चाहिये।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...