उत्तर प्रदेश में बदमाशों में पुलिस का डर खत्म! आजमगढ़ में पूर्व ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्‍या

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2020   10:55
उत्तर प्रदेश में बदमाशों में पुलिस का डर खत्म! आजमगढ़ में पूर्व ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्‍या

पुलिस अधीक्षक नगर पंकज पांडेय ने बताया कि पूर्व ग्राम प्रधान विजय ने शनिवार को ही एक जमीन खरीदी थी और इसके बाद वह अपने चाचा के साथ गांव के एक व्यक्ति के घर पर बैठे थे, उसी समय उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गयी।

आजमगढ़ (उप्र)। आजमगढ़ जिले के रानी की सराय थाना क्षेत्र के अल्‍लीपुर गांव में शनिवार की रात पूर्व ग्राम प्रधान की बदमाशों ने गोली मारकर हत्‍या कर दी। पुलिस के अनुसार इस मामले में नौ नामजद और पांच अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्‍या का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने इस मामले में दो महिलाओं समेत चार लोगों को हिरासत में भी लिया है। पुलिस ने कहा कि पूर्व ग्राम प्रधान की हत्या के बाद गांव में तनाव व्याप्त हो गया लेकिन अब स्थिति नियंत्रण में है। इस समय उनकी भाभी ग्राम प्रधान हैं।

इसे भी पढ़ें: बसपा अध्‍यक्ष मायावती की केंद्र से मांग, कृषि कानूनों पर पुनर्विचार करे सरकार

पुलिस अधीक्षक नगर पंकज पांडेय ने बताया कि पूर्व ग्राम प्रधान विजय ने शनिवार को ही एक जमीन खरीदी थी और इसके बाद वह अपने चाचा के साथ गांव के एक व्यक्ति के घर पर बैठे थे, उसी समय उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गयी। घटना का कारण पुरानी रंजिश बतायी जा रही है। पुलिस के अनुसार पूर्व ग्राम प्रधान की मौत की सूचना के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गये।

इसे भी पढ़ें: योगी ने कोरोना से बचाव, उपचार की व्यवस्था को सुदृढ़ बनाए रखने के दिए निर्देश

सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी भारी पुलिस बल के साथ गांव में पहुंचे और पूर्व प्रधान के शव को अपने कब्जे में लेने का प्रयास किया जिसका परिजनों और ग्रामीणों ने विरोध किया और हंगामा करना शुरू कर दिया। पुलिस अधिकारियों ने परिजनों और ग्रामीणों को समझा बुझाकर शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।