गणेश दत्त ने कहा--आशा कुमारी द्वारा रावण शब्द का प्रयोग उचित नहीं

गणेश दत्त ने  कहा--आशा कुमारी द्वारा रावण शब्द का प्रयोग उचित नहीं

कांग्रेस पार्टी ने नेताओं के पास शब्दों के चयन करने की क्षमता नहीं है। कांग्रेस पार्टी के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने हेलीकॉप्टर को लेकर सवाल उठाए है पर भाजपा उनसे पूछती है की जब कांग्रेस की सरकार थी तो क्या उनके मुख्यमंत्री बैल गाड़ी में घूमते थे। उस समय उनके ही नेता मेजर मनकोटिया ने हेलीकॉप्टर को लेकर अपनी ही सरकार को घेरा था और 111 करोड़ खर्च के बारे मे3 जनता को परिचित करवाया था

शिमला भाजपा चुनाव प्रबंधन समिति के प्रमुख एवं हिम फेड के चेयरमैन गणेश दत्त ने शिमला में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि आशा कुमारी द्वारा रावण शब्द का प्रयोग उचित नहीं है, कांग्रेस पार्टी की यह पुरानी आदत रही है पहले सोनिया गांधी से भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर मौत के सौदागर की टिपणी की थी। 

 

 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने नेताओं के पास शब्दों के चयन करने की क्षमता नहीं है।   कांग्रेस पार्टी के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने हेलीकॉप्टर को लेकर सवाल उठाए है पर भाजपा उनसे पूछती है की जब कांग्रेस की सरकार थी तो क्या उनके मुख्यमंत्री बैल गाड़ी में घूमते थे। उस समय उनके ही नेता मेजर मनकोटिया ने हेलीकॉप्टर को लेकर अपनी ही सरकार को घेरा था और 111 करोड़ खर्च के बारे मे3 जनता को परिचित करवाया था , इस समय कांग्रेस को अपने सशंकाल को समर्ण करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि की केंद्र और प्रदेश सरकार ने जन कल्याण योजनाओं से हिमाचल की जनता का पूरा ख्याल रखा है, आयुष्मान भारत और हिम केअर योजना का बड़ा लाभ जनता को हुआ है। 

इसे भी पढ़ें: जो पार्टी सैनिकों का सम्मान नहीं कर सकती, वो देश हित का नहीं सोच सकती : जयराम ठाकुर

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के भ्रष्टाचार के कारण महँगाई बड़ी थी पर केंद्र की मोदी सरकार ने महँगाई को रोकने की पूरी कोशिश की है।  उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता महंगाई महंगाई चिल्ला रहे आकर इस पर चर्चा में भाग ले सकते हैं क्योंकि आज महंगाई की बात इन कांग्रेस वालों को बहुत नजर आ रही है। लेकिन हमारी आदत आंकड़ो पर करने की है। मोदी सरकार के 7 साल के कार्यकाल में महंगाई दर वर्ष 2020 - 21 के दौर उच्चतम रही है,जोकि 6.62 % है ।  मजे की बात ये है कि ये दर पूर्व की कांग्रेस सरकार के दस सालों (2004 से 2014 कांग्रेस सरकार ) में से 7 साल की महंगाई दर से कम रही है। मनमोहन सरकार के दौरान महंगाई दर 2010 में 50 साल के रिकार्ड तोड़ते हुए उच्चतम स्तर 11.99 % तक चली गयी थी। 

इसे भी पढ़ें: मतदान केंद्रों में वेब-कास्टिंग से की जाएगी मतदान प्रक्रिया की निगरानी

वहीं दूसरी तरफ मोदी सरकार में यही महंगाई दर 1978 के बाद 50 सालों के न्यूनतम स्तर पर आ गयी थी वर्ष 2017 में जोकि 3.33% थी । 

बाकी जनता खुद समझदार है महंगाई के हाई रिकार्ड किसने बनाये और कम दर के रिकार्ड किसने बनाये। पेट्रोल 2012 में 82 रु था उस समय कांग्रेस थी आज 2021 हैं 82 के बाद कितना रेट बड़ा सबके सामने है । जब जीएसटी में इसे लाने की बात हुई तो सबसे पहले विरोध करने वालों में कांग्रेसी शासित राज्य थे। क्योंकि राज्यों का टेक्स जो खत्म हो जाता उससे।

 

इसे भी पढ़ें: इस बार भी पहले की तरह मंडी की जनता ने भाजपा के पक्ष में मतदान करने की ठान ली है

 

कोरोना की वजह से आर्थिक बोझ बढ़े है लेकिन मोदी सरकार आने वाले वक्त में इस पर काम कर रही है। आज पूरे देश मे फ्री वेक्सीन पर हजारों करोड़ खर्च हो रहे है 70 साल राज करने वाली कांग्रेस ने कितने ऑक्सजिन प्लांट बनाये थे वो सबको पता है ये काम भी आज मोदी कर रहे हैं। कोरोना से जंग जीत रहे हैं हम हालत भी सुधरने लगे है इसका सबसे बड़ा सबूत आज आई खबर है। खुदरा महंगाई दर सितंबर में घटकर 4.35% पर आई, पिछले 10 महीनों में महंगाई सबसे कम। दूसरी तरफ IMF ने कहा है कि भारत की अर्थव्यवस्था 2022 में दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाली होगी। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के अनुमान के मुताबिक भारत में यह वृद्धि दर 8.5 फीसदी तक पहुंच सकती है. जबकि अमेरिका में यह दर 5.2 फीसदी तक ही रह सकती है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।