गोवा में 20 मार्च को होंगे स्थानीय निकायों के चुनाव, EC ने की घोषणा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 22, 2021   15:46
  • Like
गोवा में 20 मार्च को होंगे स्थानीय निकायों के चुनाव, EC ने की घोषणा

पणजी नगर निगम, 11 नगरपालिका परिषदों के लिए 20 मार्च को चुनाव होंगे।पणजी शहर के नगर निगम के लिए मतदान सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक होगा। गर्ग ने बताया कि कोविड-19 से पीड़ित लोगों को शाम में चार से पांच बजे के बीच मतदान की इजाजत होगी।

पणजी। गोवा में 11 नगरपालिका परिषदों और पणजी नगर निगम के लिए 20 मार्च को चुनाव होंगे। राज्य निर्वाचन आयोग ने सोमवार को यह जानकारी दी। राज्य निर्वाचन आयुक्त सी आर गर्ग ने यहां पत्रकारों को बताया कि चुनाव के दौरान कोविड-19 संबंधी सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 11 नगरपालिका परिषदों और पणजी शहर के नगर निगम के लिए मतदान सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक होगा। गर्ग ने बताया कि कोविड-19 से पीड़ित लोगों को शाम में चार से पांच बजे के बीच मतदान की इजाजत होगी। उन्होंने बताया कि राज्य में हाल में आयोजित जिला पंचायत चुनावों में भी यही प्रक्रिया अपनायी गयी थी। गोवा में 13 नगरपालिका परिषद और एक नगर निगम है।

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक ने केरल के साथ लगी सीमाएं फिर बंद कीं, लोगों की बढ़ी मुश्किलें

गर्ग ने बताया कि जिन जगहों पर चुनाव होने हैं, वहां सोमवार से आचार संहिता लागू हो गयी। उन्होंने कहा कि संखलिम नगरपालिका परिषद के वार्ड नवेलिम (दक्षिण गोवा) जिला पंचायत क्षेत्र और विभिन्न ग्राम पंचायतों के 22 वार्ड के लिए भी 20 मार्च को उपचुनाव होंगे। उन्होंने बताया कि विस्तृत मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की जाएगी जिसका चुनाव के दौरान सभी लोगों को पालन करना अनिवार्य होगा। उन्होंने कहा, ‘‘कोविड-19 संबंधी किसी भी तरह की समस्या से बचने के लिए मैं लोगों से सभी दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील करता हूं।’’ गर्ग ने बताया कि 25 फरवरी से चार मार्च के बीच नामांकन पत्र स्वीकार किये जाएंगे और छह मार्च को उनकी जांच होगी। मतगणना 22 मार्च को होगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


आंध्र प्रदेश में कोविड-19 के एक्टिव मरीजों की संख्या एक हजार के पार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 8, 2021   20:39
  • Like
आंध्र प्रदेश में कोविड-19 के एक्टिव मरीजों की संख्या एक हजार के पार

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी एक बुलेटिन के अनुसार सोमवार को सुबह नौ बजे तक पिछले 24 घंटे में 61 मरीज ठीक हो गए जबकि दो और मरीजों की मौत हो गई।

अमरावती। आंध्र प्रदेश में सोमवार को संक्रमण के 74 नए मामले सामने आए जिसके बाद कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या एक बार फिर एक हजार से अधिक हो गई। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी एक बुलेटिन के अनुसार सोमवार को सुबह नौ बजे तक पिछले 24 घंटे में 61 मरीज ठीक हो गए जबकि दो और मरीजों की मौत हो गई। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना के कारण PCB इन दो दौरों के लिए 30 सदस्यीय टीम भेजने की बना रहा योजना 

बुलेटिन के अनुसार राज्य में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 8,90,766 मामले सामने आ चुके हैं, 8,82,581 मरीज ठीक हो चुके हैं और महामारी से 7,176 मरीजों की मौत हो चुकी है। वर्तमान में 1009 मरीज उपचाराधीन हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


भारतीय स्वाधीनता के 75 साल, PM मोदी 12 मार्च को 'अमृत महोत्सव' की करेंगे शुरूआत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 8, 2021   20:35
  • Like
भारतीय स्वाधीनता के 75 साल, PM मोदी 12 मार्च को 'अमृत महोत्सव' की करेंगे शुरूआत

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने बताया कि इस अवसर पर प्रधानमंत्री 12 मार्च को गुजरात में रहेंगे जहां वह अहमदाबाद स्थित साबरमती आश्रम से ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम की शुरूआत करेंगे।

गांधीनगर। देश की स्वतंत्रता के 75 साल पूरा होने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 मार्च को गुजरात से ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ की शुरूआत करेंगे। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने इसकी जानकारी दी। रूपाणी ने रविवार को संवाददाताओं को बताया कि प्रधानमंत्री साबरमती आश्रम से 21 दिनों तक चलने वाली ‘दांडी यात्रा’ को भी हरी झंडी दिखायेंगे। भारत के स्वतंत्रता संघर्ष के दौरान महात्मा गांधी साबरमती आश्रम में ही रहते थे। 

इसे भी पढ़ें: जनभागीदारी देश की आजादी के 75वें वर्ष के उत्सव की मूल भावना: PM मोदी 

उन्होंने बताया कि इस अवसर पर प्रधानमंत्री 12 मार्च को गुजरात में रहेंगे जहां वह अहमदाबाद स्थित साबरमती आश्रम से ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम की शुरूआत करेंगे। महात्मा गांधी ने दांडी मार्च की अगुवाई की थी। ब्रिटिश सरकार के नमक के एकाधिकार के खिलाफ 1930 में साबरमती आश्रम से नवसारी के दांडी तक की यात्रा की थी। यह यात्रा 12 मार्च 1930 से लेकर छह अप्रैल 1930 के बीच हुयी थी। 

इसे भी पढ़ें: महिला दिवस पर ममता का दांव, भाजपा को घेरने के लिए निकाला 'पैदल मार्च' 

पिछले हफ्ते केंद्र ने देश की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय राष्ट्रीय समिति के गठन की घोषणा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोवार को कहा था कि भारत की स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष के अवसर पर आयोजित होने वाले समारोहों में आजादी के आंदोलन की भावना प्रदर्शित होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह 1947 से हमारी उपलब्धियों को दुनिया को दिखाने का अवसर है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


कांग्रेस के बहिर्गमन पर भड़के येदियुरप्पा, बोले- सिद्धारमैया को हमेशा के लिए विपक्ष में बैठने की गारंटी देता हूं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 8, 2021   20:29
  • Like
कांग्रेस के बहिर्गमन पर भड़के येदियुरप्पा, बोले- सिद्धारमैया को हमेशा के लिए विपक्ष में बैठने की गारंटी देता हूं

मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने आक्रोशित होकर कहा कि प्रिय सिद्धारमैया, आपको हमेशा के लिए विपक्ष में बैठने की गांरटी देता हूं। अगर मैंने 130 से 135 सीटें जीतकर सिद्धरमैया को विपक्ष में बैठने पर मजबूर नहीं किया तो मेरा नाम येदियुरप्पा नहीं।

बेंगलुरु। कर्नाटक विधानसभा में सोमवार को मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा द्वारा 2021-22 का बजट पेश करने के दौरान कांग्रेस ने बहिर्गमन किया जिसके बाद येदियुरप्पा ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि देश के इतिहास में बजट का बहिष्कार कभी नहीं किया गया। कांग्रेस के सदस्यों ने सदन से बहिर्गमन करने से पहले आरोप लगाया कि राज्य सरकार को सत्ता में रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। बजट पेश करने के बाद येदियुरप्पा ने संवाददाताओं से कहा, “केंद्र या राज्य में बजट के दौरान बहिर्गमन करने की घटना कभी हुई है क्या?” 

इसे भी पढ़ें: विपक्ष जितना RSS-RSS करता रहेगा, संघ उतना ही मजबूत होगा: येदियुरप्पा 

उन्होंने कहा, “वे (कांग्रेस) किस नैतिकता की बात कर रहे हैं? मैं बताऊंगा कि बजट पर चर्चा के दौरान वह किस नैतिकता की बात कर रहे थे।” येदियुरप्पा ने कहा कि विपक्ष तुच्छ बहाने बनाकर निकलना चाहता है क्योंकि वह स्थिति का सामना नहीं करना चाहता। मुख्यमंत्री ने आक्रोशित होकर कहा, “प्रिय सिद्धरमैया, आपको हमेशा के लिए विपक्ष में बैठने की गांरटी देता हूं। अगर मैंने 130 से 135 सीटें जीतकर सिद्धरमैया को विपक्ष में बैठने पर मजबूर नहीं किया तो मेरा नाम येदियुरप्पा नहीं। यह मैं लिखकर देता हूं।” 

इसे भी पढ़ें: RSS और BJP के खिलाफ नारेबाजी से नाराज हुए मुख्यमंत्री येदियुरप्पा, बोले- हां, हम आरएसएस से हैं... 

सिद्धरमैया द्वारा मंत्रियों के इस्तीफे की मांग पर किए गए सवाल के जवाब में येदियुरप्पा ने कहा कि सिद्धरमैया को कुछ मानसिक समस्याएं हो गई हैं इसलिए वह समझ नहीं पा रहे कि उन्हें क्या बोलना है। इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने कहा था, “पापों का बोझ उठा रही इस सरकार को सत्ता में रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। इसलिए हमने बजट पेश किए जाने का विरोध करने का निर्णय लिया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept