सरकार के प्रयासों से उद्यमियों के लिए उत्‍तर प्रदेश का आकर्षण बढ़ा: योगी

Yogi
मुख्यमंत्री यहां अपने सरकारी आवास पर नोएडा प्राधिकरण तथा मेसर्स इंगका सेंटर्स इंडिया (आइकिया) के मध्य भूमि हस्तांतरण/लीज़कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित कर रहे थे।
लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को कुर्सी, मेज, सोफा बनाने वाली कंपनी आइकिया के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किये। इस मौके पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि प्रदेश सरकार के निरंतर प्रयासों से निवेशकों और उद्यमियों के लिए उत्‍तर प्रदेश का आकर्षण बढ़ा है। मुख्यमंत्री यहां अपने सरकारी आवास पर नोएडा प्राधिकरण तथा मेसर्स इंगका सेंटर्स इंडिया (आइकिया) के मध्य भूमि हस्तांतरण/लीज़कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आइकिया एक अन्‍तर्राष्‍ट्रीय संस्था है, जो महिला सशक्तीकरण, बाल विकास सहित सामाजिक योजनाओं के क्षेत्र में कार्य कर रही है। कंपनी नोएडा में 5500 करोड़ रुपये निवेश कर रही है। आइकिया द्वारा जनसामान्य के लिए शॉपिंग मॉल, होटल, ऑफिस, दुकान आदि निर्माण कार्य कराए जाएंगे। इस निवेश से लगभग 2,000 प्रत्यक्ष रोजगार तथा परोक्ष रूप से 20,000 से अधिक रोजगार के अवसर सृजित होंगे। उन्होंने भरोसा जताया कि आइकिया द्वारा नोएडा सहित राज्य के अन्य शहरों में भी निवेश किया जाएगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए औद्योगिक विकास मंत्रीसतीश महाना ने कहा कि उत्तर प्रदेश ने दुनियाभर के उद्यमियों को आगे बढ़ने का अवसर उपलब्ध कराया है। आइकिया इंडिया के सीईओ पीटर बेडजिल ने कहा कि कंपनी हैदराबाद, मुम्बई, बंगलौर के बाद उत्तर प्रदेश में निवेश कर रही है। कम्पनी के लिए राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र और उत्तर प्रदेश बहुत महत्वपूर्ण है। 

इसे भी पढ़ें: देश की पहली मेट्रो की नींव रखने वाले ई श्रीधरन की पूरी कहानी

उन्‍होंने कहा कि संस्था द्वारा नोएडा में अपनी परियोजना को पांच से सात वर्षों में पूरा किया जाएगा। प्रदेश में आइकिया द्वारा अपने कारोबार से बड़ी संख्या में युवाओं और हस्तशिल्पियों को जोड़ा जाएगा। संस्था द्वारा स्थानीय कारीगरों के उत्पादों का विपणन भी किया जाएगा। इससे प्रदेश की ‘एक जनपद एक उत्पाद’ योजना को प्रोत्साहन मिलेगा। सरकारी प्रवक्‍ता ने बताया कि कंपनी नोएडा में अपना पहला स्‍टोर शुरू करने जा रही है। इसके लिए आइकिया प्रबंधन ने नोएडा में उत्‍तर प्रदेश सरकार से 850 करोड़ रुपये की जमीन खरीदी है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़