हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यमुनानगर में चल रहे ऐतिहासिक कपाल मोचन मेले में की शिरकत की

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यमुनानगर में चल रहे ऐतिहासिक कपाल मोचन मेले में की शिरकत की

आज कार्तिक पूर्णिमा के दिन सरोवर में स्नान से पापों से मुक्ति का विधान इस वर्ष कोरोना के हालात ठीक होने के कारण मेले की अनुमति दी है आज देव दीपावली भी है इसके साथ साथ गुरु नानक जी की जयंती है । पूरे विश्व को शांति, सद्भाव, भाईचारे और सेवा का संदेश देने वाले सिखों के प्रथम गुरु, श्री गुरु नानक देव जी के 552वें प्रकाश पर्व पर समस्त देशवासियों हार्दिक शुभकामनाएं।

चंडीगढ़ ।   हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यमुनानगर में चल रहे ऐतिहासिक कपाल मोचन मेले में की शिरकत की। सीएम ने कपाल मोचन स्थित गुरुद्वारे में मत्था भी टेका । इसके बाद कपाल मोचन और सूरजकुंड सरोवर पर पहुंचकर पूजा अर्चना की । सीएम ने कहा कि ऋषि व्यास ने जहां तपस्या की, कपालमोचन वो पवित्र तीर्थस्थल है। इस स्थल का धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व है। कपाल मोचन वो पवित्र तीर्थ स्थल जहॉं ऋषि व्यास ने तपस्या की, इस स्थल का धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व है ।

 

इस जगह गुरु नानक देव जी और गुरु गोबिंद जी दोनों का आगमन हुआ था । आज कार्तिक पूर्णिमा के दिन सरोवर में स्नान से पापों से मुक्ति का विधान इस वर्ष कोरोना के हालात ठीक होने के कारण मेले की अनुमति दी है आज देव दीपावली भी है इसके साथ साथ गुरु नानक जी की जयंती है । पूरे विश्व को शांति, सद्भाव, भाईचारे और सेवा का संदेश देने वाले सिखों के प्रथम गुरु, श्री गुरु नानक देव जी के 552वें प्रकाश पर्व पर समस्त देशवासियों हार्दिक शुभकामनाएं। आइए, इस पावन दिन पर गुरु नानक देव जी का ध्यान कर उनकी शिक्षाओं को आत्मसात करें।

इसलिए ये दिन बहुत खास हमनें इस स्थल का सांस्कृतिक और पर्यटन की दृष्टि से विकास किया है इस स्थल पर 1977 के बाद कोई सीएम नहीं आता ये पता लगा था । इस पवित्र स्थल को लेकर कुछ मिथक रहे होंगे लेकिन मेरे जैसा व्यक्ति किसी अंधविश्वास या मिथक को नहीं मानता जब मुझे पता लगा तो मैं आज 2 बैठकें रद्द करके यहां आया हूँ हमें अंधविश्वास नहीं करना चाहिए पहले मधुबन को लेकर भी कुछ अंधविश्वास कहा जाता था लेकिन मैं वहां 3 बार कार्यक्रम में शामिल हुआ हूँ ।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।