निवेश के लिए स्वर्ग है हरियाणा- अनिल विज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 30, 2022   19:10
निवेश के लिए स्वर्ग है हरियाणा- अनिल विज

विज ने बताया कि हरियाणा में केएमपी के दोनों तरफ सरकार ने इंडस्ट्रियल कॉरिडोर स्थापित करने की योजना बनाई है जहां इंडस्ट्री लगाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रदेश में लाल फीताशाही को खत्म किया है। उन्होंने यह भी बताया कि हरियाणा में निवेशकों को सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने पड़ेगें और सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन सुविधा दी गई है।

चंडीगढ़ ।  गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री   अनिल विज ने कहा कि ‘‘निवेश के नजरिए से हरियाणा स्वर्ग है और हरियाणा में निवेश करने के लिए बहुत अवसर है’’। दुबई में आयोजित ‘‘ग्लोबल इन्वेस्टर्स ग्रोथ समिट’’ से लौटने के पश्चात हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बताया कि  हरियाणा निवेश के लिए एक ‘पैराडाइज’ है जहां निवेशकों के निवेश के लिए अपार अवसर है।

 

विज ने बताया कि हरियाणा में केएमपी के दोनों तरफ सरकार ने इंडस्ट्रियल कॉरिडोर स्थापित करने की योजना बनाई है जहां इंडस्ट्री लगाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रदेश में लाल फीताशाही को खत्म किया है। उन्होंने यह भी बताया कि हरियाणा में निवेशकों को सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने पड़ेगें और सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन सुविधा दी गई है। गृह मंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार निवेशकों को भरपूर सहयोग देगी।  

 

इसे भी पढ़ें: कर्मचारी यूनियन रोडवेज निजीकरण का झूठा प्रचार कर रही: मूलचंद शर्मा

 

विकास एवं पंचायत और पुरातत्व एवं संग्रहालय मंत्री  देवेंद्र सिंह बबली ने पुरातत्व विभाग के अधिकारियों को ऐसे विभिन्न अवसरों और परियोजनाओं का पता लगाने के निर्देश दिए, जो राज्य को पुरातात्विक और पर्यटन की दृष्टि से बढ़ावा देने में सहायक सिद्घ हो सकते हैं। श्री देवेंद्र बबली ने यह निर्देश पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग के अधिकारियों के साथ हुई एक समीक्षा बैठक के दौरान दिए। बैठक के दौरान उन्होंने प्रदेश में पुरातात्विक स्थलों पर चल रहे सभी कार्यों की समीक्षा एवं चर्चा की और उन्हें निर्धारित समय के भीतर पूरा करने का निर्देश दिये।

इसे भी पढ़ें: एफडीए टीम ने बिना लाईसेंस के खुले में चल रही फार्मेसी के काउंटर पर मारा छापा

उन्होंने कहा कि हरियाणा का पुरातात्विक इतिहास बहुत समृद्ध है और इसे संरक्षित और सुरक्षित रखने के लिए मिलकर प्रयास किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हमें ऐसा सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाना है जिससे अधिक से अधिक लोगों को राज्य की समृद्ध विरासत से जोड़ा जा सके। अधिकारियों को नियमित प्रगति रिपोर्ट देने का निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि वे व्यक्तिगत रूप से राज्य भर में इन स्थलों का दौरा करेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।