हरियाणा 10,000 एकड़ क्षेत्र में विकसित करेगा दुनिया का सबसे बड़ा जंगल सफारी पार्क

 jungle safari park
ANI
हरियाणा अरावली क्षेत्र में दुनिया का सबसे बड़ा जंगल सफारी पार्क (वन उद्यान) विकसित करेगा। राज्य सरकार ने बृहस्पतिवार को एक बयान में कहा कि यह सफारी पार्क गुरूग्राम और नूंह जिलों के 10,000 एकड़ क्षेत्र में फैला होगा। उसने कहा, ‘‘ यह परियोजना दुनिया में ऐसी सबसे बड़ी परियोजना होगी।’’

चंडीगढ़। हरियाणा अरावली क्षेत्र में दुनिया का सबसे बड़ा जंगल सफारी पार्क (वन उद्यान) विकसित करेगा। राज्य सरकार ने बृहस्पतिवार को एक बयान में कहा कि यह सफारी पार्क गुरूग्राम और नूंह जिलों के 10,000 एकड़ क्षेत्र में फैला होगा। उसने कहा, ‘‘ यह परियोजना दुनिया में ऐसी सबसे बड़ी परियोजना होगी।’’ फिलहाल अफ्रीका के बाहर शारजाह में सबसे बड़ा सफारी पार्क है। यह करीब 2,000 एकड़ क्षेत्र में फैला है और उसका उद्घाटन फरवरी, 2022 में हुआ था।

इसे भी पढ़ें: लेफ्टिनेंट जनरल चौहान के नए प्रमुख रक्षा अध्यक्ष बनने से उत्तराखंड लगातार दूसरी बार गौरवान्वित

सरकार ने बयान में कहा, ‘‘ प्रस्तावित अरावली पार्क आकार में इससे पांच गुणा से भी अधिक होगा और उसमें सरीसृप एवं उभयचर प्राणियों के स्थल, पक्षी पार्क, बाघ श्रेणी के प्राणियों के चार क्षेत्र, शाकाहार प्राणियों का विशाल क्षेत्र, जलीय जीव-जंतुओं का क्षेत्र, आंगुतक एवं पर्यटन क्षेत्र, प्राणी उद्यान, बायोमास, आदि होंगे। ’’ राज्य सरकार ने कहा कि केंद्रीय वन एवं पर्यावरण तथा जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर इस सिलसिले में शारजाह सफारी देखने गये थे। खट्टर बुधवार को एक दिवसीय यात्रा पर दुबई पहुंचे थे।

इसे भी पढ़ें: WhatsApp की नीति संबंधी याचिका पर जनवरी 2023 में सुनवाई करेगा शीर्ष न्यायालय

बृहस्पतिवार को लौटने के बाद खट्टर ने कहा कि हरियाणा के एनसीआर क्षेत्र में जंगल सफारी के विकास की प्रचुर संभावना है। उन्होंने कहा कि जंगल सफारी योजना न केवल पर्यटन को बढ़ावा देगी बल्कि स्थानीय लोगों को रोजगार का अवसर भी उपलब्ध कराएगी। उन्होंने कहा, ‘‘हरियाणा में जंगल सफारी परियोजना पर्यावरण , वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रायल तथा हरियाणा सरकार की संयुक्त परियोजना होगी। केंद्र सरकार परियोजना के लिए हरियाणा को धन उपलब्ध कराएगी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़