उत्तराखंड में भारी बारिश जा​री, धामी ने प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 29, 2021   16:18
उत्तराखंड में भारी बारिश जा​री, धामी ने प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया

सरकारी सूत्रों ने बताया कि धामी ने आज सुबह हेलीकॉप्टर से गढ़वाल मंडल के देवप्रयाग, तोताघाटी, तीनधारा, कौड़ियाला, ऋषिकेश, रानीपोखरी, नरेंद्रनगर, फकोट एवं चंबा के प्रभावित इलाक़ों का हवाई सर्वेक्षण किया।

देहरादून। उत्तराखंड में पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश का सिलसिला रविवार को भी जारी रहा और मुख्यमंत्री पुष्कर​ सिंह धामी ने गढ़वाल क्षेत्र के प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण कर स्थिति का जायजा लिया। सरकारी सूत्रों ने बताया कि धामी ने आज सुबह हेलीकॉप्टर से गढ़वाल मंडल के देवप्रयाग, तोताघाटी, तीनधारा, कौड़ियाला, ऋषिकेश, रानीपोखरी, नरेंद्रनगर, फकोट एवं चंबा के प्रभावित इलाक़ों का हवाई सर्वेक्षण किया। इस दौरान उनके साथ कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक और राज्य के मुख्य सचिव एस एस संधु भी रहे।

बाद में, रावत ने संवाददाताओं को बताया कि मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अपने-अपने जिलों में बारिश से प्रभावित सड़कों और पुलों का ब्योरा सरकार को भेजें ताकि उनके लिए धन की व्यवस्था की जा सके। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को प्रभावित क्षेत्रों में दवाइयों और खाद्यान्न की उपलब्धता सुनिश्चित करने को भी कहा गया है। वहीं, प्रदेश के लोकनिर्माण मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विभाग के अधिकारियों से बारिश से क्षतिग्रस्त सड़कों और पुलों को ठीक करने तथा यातायात बहाल करने के लिए वैकल्पिक मार्गों की व्यवस्था करने को कहा है। उन्होंने लोगों से भी भारी बारिश के दौरान अपने आवागमन को सीमित रखने का आग्रह किया है। प्रदेश के आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार, राज्य में राष्ट्रीय राजमार्गों सहित कुल 107 सड़कें और पुल भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन के कारण बंद हैं जिन्हें खोलने का प्रयास जारी है। 

इसे भी पढ़ें: राहुल पर भगत सिंह कोश्यारी ने कसा तंज, कहा- उन्हें मेरी टोपी के ‘काले रंग’ में ज्यादा दिलचस्पी

विभाग के अनुसार, नरेंद्र नगर में गांव भिन्नू के पास ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग सड़क कटाव के के कारण यातायात के लिए बंद है। ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग तोताघाटी और पागलनाला सहित आधा दर्जन स्थानों पर भूस्खलन के चलते मलबा और पत्थर गिरने के कारण क्षतिग्रस्त हो गया है। वहीं, हरबर्टपुर-बडकोट राष्ट्रीय राजमार्ग जूडो के पास भूस्खलन के कारण बंद है। देहरादून-ऋषिकेश मार्ग पर शुक्रवार को टूटे रानीपोखरी पुल पर यातायात अभी बहाल नहीं हो पाया है और रानीपोखरी-भोगपुर-थानों मार्ग के जरिए यातायात को निकाला जा रहा है। इस बीच, प्रदेश के अनेक स्थानों पर लगातार बारिश जारी रही। राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार, पिछले 24 घंटों में ऋषिकेश के निकट जौलीग्रांट में 254 मिमी, सितारगंज में 60 मिमी, कपकोट में 55 मिमी, बनबसा में 53 मिमी, मुनस्यारी में 46 मिमी,नरेंद्रनगर में 40.2 मिमी, भटवाडी में 30 मिमी और गैरसैंण में 27 मिमी वर्षा दर्ज की गयी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।