हेमा मालिनी ने मथुरा एवं वृंदावन में ‘बंदरों के आतंक’ का मुद्दा लोकसभा में उठाया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2019   18:12
हेमा मालिनी ने मथुरा एवं वृंदावन में ‘बंदरों के आतंक’ का मुद्दा लोकसभा में उठाया

सदन में जब हेमा मालिनी ने यह मुद्दा उठाया तो कई सदस्यों ने उनकी बात का समर्थन किया और देश के कई हिस्सों में बंदरों से लोगों को परेशान होने की बात कही।हेमा ने कहा कि तीर्थस्थलों पर बंदरों के आतंक से लोगों को बहुत परेशानी हो रही है।

नयी दिल्ली। भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने मथुरा एवं वृंदावन में ‘बंदरों के आतंक’ का मुद्दा बृहस्पतिवार को लोकसभा में उठाया और कहा कि इस समस्या से लोगों को राहत देने के लिए ‘मंकी सफारी’ बनाई जानी चाहिए।शून्यकाल के दौरान सदन में जब हेमा मालिनी ने यह मुद्दा उठाया तो कई सदस्यों ने उनकी बात का समर्थन किया और देश के कई हिस्सों में बंदरों से लोगों को परेशान होने की बात कही।हेमा ने कहा कि तीर्थस्थलों पर बंदरों के आतंक से लोगों को बहुत परेशानी हो रही है। बंदर का नाम लेने से बहुत सारे लोगों को मजाक लगेगा, लेकिन यह बहुत गंभीर मुद्दा है।

इसे भी पढ़ें: मैंने बंदरों की सुरक्षा के लिए मथुरा में Monkey Safari की मांग की है: हेमा मालिनी

उन्होंने कहा कि मथुरा और वृंदावन में रहने वाले लोग बहुत परेशान हैं। बंदर लोगों पर हमले कर रहे हैं। कुछ लोगों की जान भी चली गई है।हेमा ने कहा कि सरकार को इस समस्या का समाधान करना चाहिए। कोई ‘मंकी सफारी’ बनानी चाहिए ताकि लोग भी सुरक्षित रहें और बंदर भी सुरक्षित रहें।उनकी बात का समर्थन करते हुए लोजपा के चिराग पासवान ने कहा कि लुटियन जोन में भी बंदरों का आतंक है और सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए।सदन में तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने हेमा मालिनी की बात का समर्थन करते हुए कहा कि वृंदावन में एक बंदर द्वारा अपना चश्मा ले जाने की घटना का उल्लेख किया और कहा कि सरकार को इस समस्या का समाधान करना चाहिए। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।