भोपाल के ईदगाह हिल्स का नाम गुरु नानक टेकरी रखने की माँग

  •  दिनेश शुक्ल
  •  नवंबर 30, 2020   23:30
  • Like
भोपाल के ईदगाह हिल्स का नाम गुरु नानक टेकरी रखने की माँग

भोपाल की हुजूर विधानसभा सीट से विधायक और मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि ईदगाह हिल्स का नाम बदलकर गुरु नानक टेकरी किया जाए। उन्होंने कहा कि 500 साल पहले जब गुरु नानक देव जी भारत भ्रमण पर निकले थे, तब वे भोपाल भी आए थे।

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने  प्रदेश की राजधानी  भोपाल स्थित ईदगाह हिल्स का नाम बदलकर गुरु नानक टेकरी किए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि भोपाल की यह टेकरी ऐतिहासिक रूप से गुरु नानक देव जी की स्मृतियों से जुड़ी हुई है। वही रामेश्वर शर्मा ने होशंगाबाद शहर का नाम बदलकर नर्मदापुरम रखने की वकालत की है। 

इसे भी पढ़ें: नर्मदा और गौ संरक्षण की मांगों को लेकर भैयाजी सरकार ने शुरू किया सत्याग्रह

भोपाल की हुजूर विधानसभा सीट से विधायक और मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि ईदगाह हिल्स का नाम बदलकर गुरु नानक टेकरी किया जाए। उन्होंने कहा कि 500 साल पहले जब गुरु नानक देव जी भारत भ्रमण पर निकले थे, तब वे भोपाल भी आए थे। यहां गुरु नानक देव जी उसी टेकरी पर आए थे, जिसे ईदगाह हिल्स कहा जाता है। उन्होंने कहा कि पहले इस टेकरी को गुरुनानक टेकरी कहा जाता था, लेकिन बाद में यहां ईदगाह बन गई और उसका नाम ईदगाह हिल्स पड़ गया। अब इसे बदलकर गुरु नानक टेकरी किया जाना चाहिए। वही रामेश्वर शर्मा ने कहा कि होशंगाबाद का नाम भी बदलकर नर्मदापुरम किया जाना चाहिए। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


देश के शिल्पकारों का एंप्लॉयमेंट एक्सचेंज साबित हो रहा है हुनर हाट: मुख्तार अब्बास नकवी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   15:21
  • Like
देश के शिल्पकारों का  एंप्लॉयमेंट एक्सचेंज  साबित हो रहा है हुनर हाट: मुख्तार अब्बास नकवी

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हुनर हाट को सरकारी खरीद फरोख्त के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले जेम पोर्टल पर भी डाला गया है। यह इसकी प्रामाणिकता और प्रसिद्धि को जाहिर करता है। हुनर हाट अब ई-प्लेटफॉर्म पर भी उपलब्ध है।

लखनऊ। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शुक्रवार को कहा कि हुनर हाट देश के दस्तकारों और कारीगरों का एंप्लॉयमेंट एक्सचेंज साबित हो रहा है और इस आयोजन के जरिए अब तक पांच लाख से ज्यादा कारीगरों को रोजगार के अवसर दिए गए हैं। नकवी ने अपने मंत्रालय द्वारा यहां शनिवार को शुरू हो रहे 15 दिवसीय हुनर हाट कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि देश के शिल्पकारों को एक बेहतरीन मंच देने वाला यह कार्यक्रम उनके लिए एंप्लॉयमेंट एक्सचेंज साबित हो रहा है। उन्होंने बताया कि अब तक 500000 से ज्यादा दस्तकारों और शिल्प कारों को हुनर हाट के जरिए रोजगार के अवसर दिए गए हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हुनर हाट को सरकारी खरीद फरोख्त के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले जेम पोर्टल पर भी डाला गया है। यह इसकी प्रामाणिकता और प्रसिद्धि को जाहिर करता है। हुनर हाट अब ई-प्लेटफॉर्म पर भी उपलब्ध है।

नवाबों के शहर लखनऊ के अवध शिल्पग्राम में आयोजित होने वाली इस 24वीं हुनर हाट में देश के 31 राज्यों के 500 से ज्यादा हुनरमंद लोग अपने उत्पादों की प्रदर्शनी और बिक्री करेंगे। वोकल फॉर लोकल थीम पर आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम का औपचारिक उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। नकवी ने कहा कि हुनर हाट में आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, झारखण्ड, कर्नाटक, केरल, लद्दाख, मध्य प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, नगालैंड, ओड़िशा, पुडुचेरी, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल सहित 31 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से लगभग 500 हुनर के उस्ताद शामिल हो रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि लखनऊ के हुनर हाट में देश के दस्तकार/शिल्पकार, अजरख, ऍप्लिक, आर्ट मेटल वेयर, बाघ प्रिंट, बाटिक, बनारसी साड़ी, बंधेज, बस्तर की जड़ी-बूटियां, ब्लैक पॉटरी, ब्लॉक प्रिंट, बेंत-बांस के उत्पाद, चिकनकारी, कॉपर बेल, ड्राई फ्लावर्स, खादी के उत्पाद, कोटा सिल्क, लाख की चूड़ियाँ, लेदर, पश्मीना शाल, रामपुरी वायलिन, लकड़ी-आयरन के खिलौने, कांठा एम्ब्रोइडरी, ब्रास-पीतल के प्रोडक्ट, क्रिस्टल ग्लास आइटम, चन्दन की कलाकृतियां आदि के स्वदेशी हस्तनिर्मित शानदार उत्पाद प्रदर्शन एवं बिक्री के लिए ले कर आये हैं। 

इसे भी पढ़ें: मुख्तार अब्बास नकवी का बयान, सभी हज यात्रियों को लगेगा कोरोना का टीका

नकवी ने कहा कि लखनऊ के हुनर हाट में आने वाले लोग देश के पारंम्परिक लजीज़ पकवानों का लुत्फ़ भी उठाएंगे, वहीँ देश के जाने-माने कलाकारों द्वारा हर दिन प्रस्तुत किये जाने वाले विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आकर्षण का केंद्र होंगे। हुनर हाट में प्रतिदिन सांयकाल जाने-माने कलाकारों द्वारा आत्मनिर्भर भारत थीम पर गीत-संगीत के कार्यक्रम होंगे। इन कार्यक्रमों में प्रसिद्द कलाकार जैसे कैलाश खेर, विनोद राठौर, शिबानी कश्यप, भूपेंद्र भुप्पी, मिर्ज़ा सिस्टर्स, प्रेम भाटिया; हमसर हयात ग्रुप अपने कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में हुनर हाट का आयोजन मैसूर, जयपुर, चंडीगढ़, इंदौर, मुंबई, हैदराबाद, नई दिल्ली, रांची, कोटा, सूरत/अहमदाबाद, कोच्चि, पुडुचेरी आदि स्थानों पर भी होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


बंगाल में 22,887 अतिरिक्त मतदान केंद्र होंगे, CEC सुनील अरोड़ा बोले- जल्द होगा तारीखों का ऐलान

  •  अनुराग गुप्ता
  •  जनवरी 22, 2021   15:19
  • Like
बंगाल में 22,887 अतिरिक्त मतदान केंद्र होंगे, CEC सुनील अरोड़ा बोले- जल्द होगा तारीखों का ऐलान

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि पश्चिम बंगाल में 78,903 मतदान केंद्र थे। अतिरिक्त मतदान केंद्र 22,887 होंगे। जिसके बाद मतदान केंद्रों की संख्या बढ़कर 1,01,790 हो जाएगी।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले चुनाव आयोग के अधिकारियों ने राज्य के नेताओं और उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के बाद मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि राजनीतिक दलों के साथ चर्चा के बाद ज्यादातर ने कहा कि चुनावों में बड़ी संख्या में सीएपीएफ की तैनाती की जाए और पोलिंग स्टेशन पर वीडियोग्राफी हो ताकि सुरक्षित वोटिंग हो सके। उन्होंने सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाने के लिए भी कहा है। 

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल के ममता बनर्जी मंत्रिमंडल से एक और नेता ने दिया इस्तीफा 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि पश्चिम बंगाल में 78,903 मतदान केंद्र थे। अतिरिक्त मतदान केंद्र 22,887 होंगे। जिसके बाद मतदान केंद्रों की संख्या बढ़कर 1,01,790 हो जाएगी। इस बार सभी मतदान केंद्र ग्राउंड फ्लोर पर होंगे। यह दिव्यांगजनों को ध्यान में रखकर और मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए किया गया है।

चुनाव आयोग के अधिकारियों ने बताया कि राज्य में शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव हो इसके लिए बैठक में चर्चा हुई। मिली जानकारी के मुताबिक जिस राज्य में चुनाव होगा वहां पर उस राज्य से संबंधित अधिकारियों की तैनाती नहीं की जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: बंगाल में शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए निर्वाचन आयोग बढ़ा सकता है सुरक्षाकर्मियों की तादाद 

जल्द होगा तारीखों का ऐलान

पश्चिम बंगाल समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। चुनाव की तारीखों के संबंध में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि जल्द ही एक साथ चुनाव की तारीखों का ऐलान किया जाएगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


राम मंदिर पर फैसला देने वाले पूर्व CJI रंजन गोगोई को मिली जेड प्लस सुरक्षा

  •  अभिनय आकाश
  •  जनवरी 22, 2021   15:18
  • Like
राम मंदिर पर फैसला देने वाले पूर्व CJI रंजन गोगोई को मिली जेड प्लस सुरक्षा

राज्यसभा सांसद रंजन गोगोई को पूरे भारत में यात्रा के दौरान जेड श्रेणी की सुरक्षा दी जाएगी। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को रंजन गोगोई को सुरक्षा प्रदान करने को कहा गया है।

अयोध्या विवाद पर फैसला सुनाने वाले पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। केंद्र सरकार की ओर से वर्तमान राज्यसभा सांसद रंजन गोगोई को पूरे भारत में यात्रा के दौरान ये सुरक्षा दी जाएगी। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को रंजन गोगोई को सुरक्षा प्रदान करने को कहा गया है।

9 नवंबर 2019 को रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने पिछले साल आयोध्या भूमि विवाद मामले में फैसला सुनाया था। पिछले वर्ष मार्च के महीने में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए नामित किया था। हालांकि गोगोई को राज्यसभा के लिए नामित किए जाने पर कई तरह की राजनीतिक प्रतिक्रियाएं भी आईं थी और विपक्षी पार्टियों ने बीजेपी पर सवाल भी उठाए थे। 

इसे भी पढ़ें: भगवान राम ने वनवासियों को जोड़ा था राजमहल से

दिए कई ऐतिहासिक फैसले

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के रूप में रंजन गोगोई ने साढ़े 13 महीने तक कार्य किया। इस दौरान उन्होंने कुल 47 फैसले सुनाए। जिनमें चीफ जस्टिस कार्यलय को आरटीआई के दायरे में लाना, राफेल डील, सबरीमाला मंदिर और सरकारी विज्ञापन में नेताओं की तस्वीर प्रकाशित करने पर पाबंदी जैसे मामलों पर निर्णय शामिल है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept