मोदी-शाह से इमरान को लगा डर, कहा- ये सिर्फ कश्मीर पर रुकने वाले नहीं, POK में भी आ सकते हैं

By अभिनय आकाश | Publish Date: Aug 14 2019 4:28PM
मोदी-शाह से इमरान को लगा डर, कहा- ये सिर्फ कश्मीर पर रुकने वाले नहीं, POK में भी आ सकते हैं
Image Source: Google

भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध की स्थिति पैदा होने की स्थिति में भारत को जिम्मेदार बताते हुए इमरान ने कहा कि पुलवामा के बाद बालाकोट किया था, अब ये पीओके की तरफ आ सकते हैं। इमरान ने आगे कहा कि अगर कोई मुसलमान अपनी आवाज़ उठाता है तो वह उन्हें पाकिस्तान जाने के लिए कहते हैं। भारत में मुसलमान डरे हुए हैं।

भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर के मामले पर फैसला लिए जाने के बाद से बौखलाए पाकिस्तान और उसके कप्तान इमरान खान ने पहले तो अपने तेवर दिखाए लेकिन अब उन्हें भी नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी से डर लगने लगा है। पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर इमरान खान पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के मुज़फ्फराबाद में लोगों को संबोधित किया। इस दौरान इमरान ने एक बार फिर कश्मीर राग अलापा। इस दौरान लोगों को संबोधित करते हुए इमरान ने कहा कि मैंने कश्मीर के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के सच को दुनिया के सामने रखा है। उन्होंने कहा कि ये सिर्फ कश्मीर पर रुकने वाले नहीं हैं, हमें रिपोर्ट्स मिली हैं कि ये पीओके में भी आ सकते हैं। हालांकि खुद के डर पर थोड़ी ही देर में नियंत्रित करते हुए इमरान ने कहा कि हमारी सेना तैयार है और अगर कुछ हुआ तो हम जवाब देंगे।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका के विदेश मंत्री ने पाकिस्तान को दी स्वतंत्रता दिवस पर बधाई

भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध की स्थिति पैदा होने की स्थिति में भारत को जिम्मेदार बताते हुए इमरान ने कहा कि पुलवामा के बाद बालाकोट किया था, अब ये पीओके की तरफ आ सकते हैं। इमरान ने आगे कहा कि अगर कोई मुसलमान अपनी आवाज़ उठाता है तो वह उन्हें पाकिस्तान जाने के लिए कहते हैं। भारत में मुसलमान डरे हुए हैं।

इसे भी पढ़ें: ‘‘कश्मीर एकजुटता दिवस’’ के रूप में मनायेगा पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस



आरएसएस का जिन बोतल से बाहर निकल आया है और वह वापस उसे बंद भी नहीं कर रहे हैं। बता दें कि जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने और राज्य के पुनर्गठन से बौखलाए इमरान खान ने भारत से राजनयिक संबंध तोड़ने, ट्रेनों के परिचालन रोकने जैसे कई ताबड़तोड़ फैसले लिए और कई देशों के सामने कश्मीर राग छेड़ने की भी कोशिश की लेकिन हर जगह उन्हें कोई भी भाव नहीं मिलने के बाद इमरान ने बेबसता में अपना भाषण दिया। जिसमें डर, गुस्सा, खीझ और अकेलेपन की झलक दिखाई दी। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video