• बाज नहीं आ रहा चीन, भारत की ओर डेमचोक इलाके में लगाए तंबू, मना करने के बावजूद नहीं हटे पीछे !

चीन ने लद्दाख के डेमचोक इलाके के चारडिंग नाला के पास तंबू लगाए हैं। इन तंबुओं में कथित तौर पर चीन के नागरिक रह रहे हैं और भारत ने उन्हें यहां से जाने के लिए भी कहा है। इसके बावजूद वह लोग अभी पीछे नहीं हटे हैं।

लद्दाख। वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत का चीन के साथ जारी तनाव कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। इसी बीच खबर मिल रही है कि चीन अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। अब उसने भारतीय इलाके में एक बार फिर से निर्माण कार्य को शुरू किया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक चीन ने लद्दाख के डेमचोक इलाके के चारडिंग नाला के पास तंबू लगाए हैं। इन तंबुओं में कथित तौर पर चीन के नागरिक रह रहे हैं और भारत ने उन्हें यहां से जाने के लिए भी कहा है। इसके बावजूद वह लोग अभी पीछे नहीं हटे हैं। 

इसे भी पढ़ें: IOR में ड्रैगन से लोहा लेने के लिए भारत बढ़ा रहा अपनी जंगी क्षमता ! पनडुब्बियों के निर्माण के लिए जारी किया टेंडर 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चारडिंग नाला के पास भारत की ओर तंबू लगाए गए हैं। हालांकि एलएसी पर जारी तनाव को समाप्त करने के लिए एक बार फिर से सैन्य स्तर की वार्ता होने वाली है। आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच 12वें दौर की सैन्य स्तर की वार्ता 31 जुलाई को होने वाली है। दरअसल, चीन ने 26 जुलाई को वार्ता की बात कही थी लेकिन कारगिल विजय दिवस होने की वजह से भारत ने वार्ता को 26 तारीख के बाद किसी भी दिन करने की मांग की थी। जिसके बाद अब 31 जुलाई को वार्ता प्रस्तावित हुई है। 

इसे भी पढ़ें: फिर भारतीय सीमा में चीन ने की घुसपैठ की कोशिश ! दलाई लामा के जन्मदिन पर दिखाए बैनर और झंडे 

गौरतलब है कि गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद भारत-चीन के रिश्ते और भी ज्यादा तल्ख हो गए थे। इस झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे और कई चीनी जवानों के भी मारे जाने की खबरें थी लेकिन शुरू में चीन ने इससे इनकार कर दिया था। गलवान घाटी की घटना के बाद से दोनों देशों की सैनिक एलएसी पर आमने-सामने हैं। भारत की तीनों सेना थल, जल और वायु ने स्पष्ट संदेश दिया है कि वह किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।