भारत नयी नीति व प्रक्रिया से कर रहा आतंकवाद का मुकाबला: PM मोदी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 26, 2020   16:03
भारत नयी नीति व प्रक्रिया से कर रहा आतंकवाद का मुकाबला: PM मोदी

पाकिस्तान के आतंकवादियों ने 12 साल पहले, देश की आर्थिक राजधानी में आतंकी हमला किया था और तीन दिनों तक चले इस हमले में 18 सुरक्षाकर्मियों सहित 166 लोगों की मौत हो गयी थी।

केवडिया (गुजरात)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि भारत 26 नवंबर के मुंबई आतंकवादी हमले के जख्म को कभी नहीं भूल सकता तथा देश एक नयी नीति और एक नयी प्रक्रिया के साथ आतंकवाद से मुकाबला कर रहा है। मोदी ने पीठासीन अधिकारियों के 80 वें अखिल भारतीय सम्मेलन के अपने समापन भाषण में 26 नवंबर के शहीदों को मुंबई आतंकवादी हमले की 12 वीं बरसी पर याद किया। प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो-कॉन्फ्रेंस के जरिए अपने संबोधन में कहा, ‘‘आज की तारीख देश में हुए सबसे बड़े आतंकी हमले से जुड़ी है। 2008 में इसी तारीख को पाकिस्तान से भेजे गए आतंकवादियों ने मुंबई पर हमला किया था।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उस आतंकवादी हमले में कई लोग मारे गए और कई देशों के लोग इसके शिकार हुए। मैं उन सभी को श्रद्धांजलि देता हूं। मैं उन सुरक्षाकर्मियों को नमन करता हूं जिन्होंने उस हमले में अपनी जान गंवा दी।’’ उन्होंने कहा, भारत मुंबई आतंकवादी हमले के जख्म को नहीं भूल सकता। प्रधानमंत्री ने कहा,‘‘भारत अब नयी नीति और नयी प्रक्रिया के साथ आतंकवाद से लड़ रहा है। उन्होंने आतंकी साजिशों को नाकाम करते हुए आतंकवाद से लड़ने वाले भारत के सुरक्षा बलों की भी सराहना की। मोदी ने कहा, मैं 26 नवंबर के मुंबई हमले जैसे बड़े आतंकी हमलों को नाकाम करने वाले अपने सुरक्षा बलों को नमन करता हूं। वे आतंकवाद को करारा जवाब दे रहे हैं और हमारी सीमाओं को सुरक्षित बनाने में लगे हुए हैं। 

इसे भी पढ़ें: 26/11 हमले के 12 साल पूरे, जब गोलियों की तड़तड़ाहट से दहल उठी थी देश की आर्थिक राजधानी

पाकिस्तान के आतंकवादियों ने 12 साल पहले, देश की आर्थिक राजधानी में आतंकी हमला किया था और तीन दिनों तक चले इस हमले में 18 सुरक्षाकर्मियों सहित 166 लोगों की मौत हो गयी थी। सुरक्षा बलों ने नौ आतंकवादियों को मार गिराया था। जीवित पकड़े गए एकमात्र आतंकवादी अजमल कसाब को चार साल बाद फांसी दी गई थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।