तिरंगे का अपमान बर्दाश्त नहीं, दोषियों के खिलाफ हो सख्त कार्रवाई: प्रकाश जावडेकर

तिरंगे का अपमान बर्दाश्त नहीं, दोषियों के खिलाफ हो सख्त कार्रवाई: प्रकाश जावडेकर

जावड़ेकर ने दावा किया कि भाजपा और विशेषकर नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और सफलता से कांग्रेस और कम्युनिस्टों को दिक्कत हो रही है। उनकी लोकप्रियता घट रही है।

गणतंत्र दिवस पर निकाले गए किसानों के ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा पर भाजपा ने कहा है कि इस हिंसा की जितनी निंदा की जाए वह कम है। इसमें शामिल लोगों को दंडित किया जाना चाहिए। देश तिरंगे के अपमान को नहीं भूलेगा। कांग्रेस लगातार किसानों के विरोध प्रदर्शन को हवा दे रही है। केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि राहुल गांधी लगातार केवल समर्थन ही नहीं कर रहे थे बल्कि उकसा भी रहे थे। सीएए के समय भी ऐसा ही किया गया था।

जावड़ेकर ने आरोप लगाया कि कांग्रेस देश में अशांति की स्थिति पैदा करना चाहती है। कांग्रेस के लिए यही राजनीति बचा है। वे चिंतित हैं कि परिवार आधारित राजनीति का क्या होगा? कांग्रेस लगातार हिंसा की हर स्थिति को भड़काने की कोशिश करती है। कांग्रेस की सरकार ने जानबूझ कर किसानों को उकसाया, कल के यूथ कांग्रेस और कांग्रेस से संबंधित संस्थाओं के ट्वीट भी प्रमाण हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस ने कल उल्लेखनीय संयम का प्रदर्शन किया। जावड़ेकर ने दावा किया दिल्ली पुलिस पर तलवारों से हमला किया गया और उन पर पत्थर फेंके गए पर उन्होंने जवाबी हमला नहीं किया।

इसे भी पढ़ें: ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा से कमजोर पड़ा किसान आंदोलन, 1 फरवरी को होने वाला संसद मार्च स्थगित

जावड़ेकर ने दावा किया कि भाजपा और विशेषकर नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और सफलता से कांग्रेस और कम्युनिस्टों को दिक्कत हो रही है। उनकी लोकप्रियता घट रही है। उनको चिंता अपने राज परिवार की है जिसको लोग बार-बार नकार रहे हैं।  जावड़ेकर ने कहा कि सरकार ने 10 राउंड चर्चा के किए हैं, साल-डेढ साल कानून रोकने, स्थगित करने की भी तैयारी दिखाई है। चर्चा के लिए बुलाया, हर बिंदु पर चर्चा करके दिखाइए कि किसानों का कौन सा अधिकार इन कानूनों से कम हुआ है। MSP, मंडी, मालिकाना हक किसी को भी दिक्कत नहीं पहुंची है, सब जारी रहेगा ये मालूम है इनको। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...