आजाद को पद्म भूषण मिलने से खुश नहीं कपिल सिब्बल? कहा- विडंबना है कि कांग्रेस को आजाद की सेवाओं की जरूरत नहीं

 Sibal
रेनू तिवारी । Jan 26, 2022 1:18PM
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण से सम्मानित किए जाने की घोषणा को लेकर बुधवार को अपनी पार्टी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यह विडंबना है कि कांग्रेस को आजाद की सेवाओं की जरूरत नहीं है, जबकि राष्ट्र उनके योगदान को स्वीकार कर रहा है।

नयी दिल्ली। पार्टी में सांगठनिक सुधार चाहने वाले वरिष्ठ नेता और 23 के समूह के सदस्य कपिल सिब्बल ने कहा है कि यह विडंबना है कि जब देश उनके योगदान को पहचानता है तो कांग्रेस को गुलाम नबी आजाद की सेवाओं की आवश्यकता नहीं होती है। यह वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को इस साल के पद्म पुरस्कारों के लिए चुने जाने के बाद आया है। कपिल सिब्बल ने कहा, "गुलाम नबी आजाद ने पदम भूषण से सम्मानित किया। बधाई भाईजान। विडंबना यह है कि कांग्रेस को उनकी सेवाओं की आवश्यकता नहीं है जब राष्ट्र सार्वजनिक जीवन में उनके योगदान को मान्यता देता है।"

गुलाम नबी आजाद पर कसा कपिल सिब्बल ने कटाक्ष

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण से सम्मानित किए जाने की घोषणा को लेकर बुधवार को अपनी पार्टी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यह विडंबना है कि कांग्रेस को आजाद की सेवाओं की जरूरत नहीं है, जबकि राष्ट्र उनके योगदान को स्वीकार कर रहा है। सरकार की ओर से मंगलवार को पद्म सम्मानों की घोषणा की गई। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री आजाद को सार्वजनिक मामलों में उनके योगदान के लिए पद्म भूषण से नवाजा जाएगा।

इसे भी पढ़ें: महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर दिखेगा राजनीतिक द्वन्द, हिंदू महासभा मनाएगी स्मृति दिवस, कांग्रेस करेगी हनुमान चालीसा का पाठ

'बधाई हो भाईजान' आजाद को बधाई देकर कपिल सिब्बल ने कांग्रेस को घेरा 

सिब्बल ने ट्वीट किया, ‘‘गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है। बधाई हो भाईजान। यह विडंबना है कि कांग्रेस को उनकी सेवाओं की जरूरत नहीं है जबकि राष्ट्र सार्वजनिक जीवन में उनके योगदान को स्वीकार करता है।’’ आजाद और सिब्बल दोनों कांग्रेस के उस ‘जी 23’ का हिस्सा हैं जिसने साल 2020 में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर कांग्रेस में आमूल-चूल परिवर्तन और जमीन पर सक्रिय संगठन की मांग की थी।

इसे भी पढ़ें: गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर दिल्ली में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, चप्पे-चप्पे पर जवान तैनात

जयराम रमेश ने भी आजाद पर किया कटाक्ष

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने भी आजाद को बधाई दी। बहरहाल, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने मंगलवार को आजाद पर कटाक्ष किया। रमेश ने पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य की ओर से पद्म भूषण सम्मान को अस्वीकार किए जाने को लेकर आजाद पर कटाक्ष करते हुए ट्वीट किया, ‘‘यही सही चीज थी करने के लिए। वह आजाद रहना चाहते हैं गुलाम नहीं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़