महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर दिखेगा राजनीतिक द्वन्द, हिंदू महासभा मनाएगी स्मृति दिवस, कांग्रेस करेगी हनुमान चालीसा का पाठ

Hindu mahasabha and congress
सुयश भट्ट । Jan 26, 2022 1:01PM
एक तरफ जहां कांग्रेस इस दिन ‘हनुमान-गांधी भक्ति’ दिखाएगी। वहीं कांग्रेस की धूर विरोधी हिंदू महासभा इस दिन को स्मृति दिवस के रुप में मनाएगी। हिंदू महासभा इस दिन नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे की गिरफ्तारी के दिन को शोक दिवस के रुपए में मनाएगी।

भोपाल। मध्य प्रदेश में 30 जनवरी को महात्मा गांधी की पुण्यतिथि राजनीतिक द्वन्द का अखाड़ा बनने जा रहा है। एक तरफ जहां कांग्रेस इस दिन ‘हनुमान-गांधी भक्ति’ दिखाएगी। वहीं कांग्रेस की धूर विरोधी हिंदू महासभा इस दिन को स्मृति दिवस के रुप में मनाएगी। हिंदू महासभा इस दिन नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे की गिरफ्तारी के दिन को शोक दिवस के रुपए में मनाएगी। 

दरअसल कांग्रेस इस दिन ऑनलाइन सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ करेगी। 30 जनवरी को उज्जैन शांतम आश्रम के पं. विजयशंकर मेहता की अगुवाई में ‘हनुमान-गांधी भक्ति’ प्रेम दिखाएगी।

इसे भी पढ़ें:कमलनाथ ने बीजेपी सरकार पर साधा निशाना, कहा- संविधान का करती है दुरुपयोग 

इस आयोजन में कांग्रेस बताएगी गांधीजी हनुमान भक्त क्यों थे। जानकारी मिली है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आयोजन की पूरी जिम्मेदारी उठाएंगे। सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ में देश-विदेश से गांधीवादी और हनुमान भक्त ऑनलाइन जुड़ेंगे।

वहीं दूसरी तरफ हिंदू महासभा 30 जनवरी महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर स्मृति दिवस मनाएगी। हिंदू महासभा इस दिन नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे की गिरफ्तारी के दिन को शोक के रुप में मनाएगी।

इसे भी पढ़ें:जूते सहित कई उत्पादों पर तिरंगा प्रिंट, अमेजन के मालिक पर हुआ मामला दर्ज 

बता दें कि 30 जनवरी 1948 को नाथूराम गोडसे ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या की थी। 30 जनवरी 1948 को ही दिल्ली के बिरला भवन से नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे को गिरफ्तार कर लिया गया था।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़