मेरठ,कड़ी सुरक्षा और सीसीटीवी के साये में होगा महाशिवरात्रि को बाबा औघड़नाथ मंदिर में जलाभिषेक

मेरठ,कड़ी सुरक्षा और सीसीटीवी के साये में होगा महाशिवरात्रि को बाबा औघड़नाथ मंदिर में जलाभिषेक

इस बार महाशिवरात्रि पर औघड़नाथ मंदिर में आरएएफ के जवानों को सुरक्षा में लगाया गया है। औघड़नाथ मंदिर में जाने वाले तीनों रास्तों पर लगेंगे सीसीटीवी कैमरे। 120 पुलिसकर्मी 30 महिला कांस्टेबल और 50 मंदिर के कर्मचारी भी रहेंगे तैनात।

मेरठ में क्रांति के प्रतीक ऐतिहासिक औघड़नाथ मंदिर में महाशिवरात्रि पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त रहेंगे। CCTV कैमरों और पुलिस कर्मियों की निगरानी के बीच मंदिर में जलाभिषेक होगा। वहीं, मंदिर परिसर से दो किमी तक के दायरे पर खास सुरक्षा इंतजाम रहेंगे। मेरठ के मुख्य छावनी इलाके में स्थित शिवमंदिर पर महाशिवरात्रि पर लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते है, इसलिए पुलिस, प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। 

मंगलवार को महाशिवरात्रि है। ऐसे में मंदिरों की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। बाबा औघडऩाथ मंदिर में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। ज्यादातर फोर्स विधानसभा चुनाव में जाने से आरएएफ के जवानों को मंदिर से बाहर लगाया है। कुछ आरटीसी के जवान भी लिए गए हैं। फोर्स कम होने की वजह से आएएफ के जवानों को तैनात किया गया है। मंदिर के 50 कर्मचारी भी पुलिस की मदद के लिए मंदिर परिसर में मौजूद रहेंगे। इसके अलावा 120 पुलिसकर्मी और 30 महिला पुलिसकर्मी को भी लगाया गया है। सादी वर्दी में भी महिला पुलिसकर्मी मंदिर परिसर में मौजूद रहेंगी। पूरे क्षेत्र को सीसीटीवी कैमरे से कवर किया गया है, जिसका कंट्रोल रूम मंदिर के दूसरी मंजिल पर बनाया गया है। महाशिवरात्रि से पहले सोमवार पड़ने की वजह से सुरक्षा व्यवस्था अभी से लागू कर दी गई है। महिला कांस्टेबलों को मंदिर के अंदर और बाहर दोनों स्थानों पर लगाया गया है।

मंदिर समिति के अनुसार महाशिवरात्रि पर रात में चार प्रहर की आरती होगी। शाम 7 बजे, रात 11 बजे, रात 1 बजे और सुबह 4 बजे घंटा, घड़ियाल परंपरा से आरती होगी। भगवान आशुतोष का विशेष श्रृंगार किया जाएगा। भस्म श्रृंगार की भी योजना बनाई जा रही है। वहीं इस बार त्रयोदशी और चतुर्दशी के मिलन का समय शिवपूजन के लिए उत्तम है। 28 फरवरी को सोम प्रदोष व्रत है और अगले दिन मंगलवार को महाशिवरात्रि है। शिवरात्रि पर सुबह 4 बजे से रुद्राभिषेक करने का उत्तम योग बन रहा है। वहीं मंदिर के कपाट भक्तों के लिए रात भर खुले रहेंगे और प्रवेश गरुड़ द्वार से निकास नंदी द्वार से रहेगा।

एएसपी सूरज राय ने बताया कि औघडऩाथ मंदिर में जाने वाले तीनों रास्तों को सीसीटीवी से कवर किया गया है। सीसीटीवी का कंट्रोल रूम बनाकर निगरानी करने के लिए सर्विलांस की टीम लगा दी गई है। तीनों मार्गों पर बैरियर भी लगा दिए हैं, ताकि मंदिर परिसर तक चार पहिया वाहन न पहुंच सकें। दोपहिया वाहनों के लिए पार्किंग बनाई गई है। एएसपी खुद सुरक्षा की मानीटरिंग करेंगे। लालकुर्ती, रेलवे रोड और सदर बाजार थानों से भी फोर्स लगाई गई है। पुलिसकर्मियों की ड्यूटी सुबह सात बजे से रहेगी। एसपी सिटी विनीत भटनागर और अन्य सर्किल के सीओ को भी सुरक्षा व्यवस्था में लगाया गया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।