भारत-चीन संघर्ष के लिए जवाहरलाल नेहरू जिम्मेदार: शिवराज सिंह चौहान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 29, 2020   10:01
भारत-चीन संघर्ष के लिए जवाहरलाल नेहरू जिम्मेदार: शिवराज सिंह चौहान

ऐसा इसलिए है क्योंकि नरेंद्र मोदी सरकार ने सीमाओं पर सड़कों का निर्माण किया है। चीन निराश है क्योंकि वह सोच रहा है कि अगर भारत आगे बढ़ता रहा तो वह दुनिया का एकमात्र देश होगा जो उन्हें हरा सकता है।

रायपुर। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को आरोप लगाया कि भारत और चीन के बीच सीमा संघर्ष के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और कांग्रेस जिम्मेदार हैं। उन्होंने राजीव गांधी फाउंडेशन (आरजीएफ) द्वारा कथित तौर पर दान प्राप्त करने को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर अपने बयानों से सेना के ‘‘मनोबल को गिराने’’ का आरोप लगाया। चौहान ने कहा, ‘‘कांग्रेस पार्टी के किसी भी प्रधानमंत्री ने कभी चीन से सटे भारतीय हिस्से पर सड़क बनाने की हिम्मत नहीं की। अब चीन क्यों हताश है।’’ उन्होंने भोपाल से छत्तीसगढ़ के भाजपा कार्यकर्ताओं को एक ऑनलाइन रैली के जरिये संबोधित करते हुए कहा, ‘‘ऐसा इसलिए है क्योंकि नरेंद्र मोदी सरकार ने सीमाओं पर सड़कों का निर्माण किया है। चीन निराश है क्योंकि वह सोच रहा है कि अगर भारत आगे बढ़ता रहा तो वह दुनिया का एकमात्र देश होगा जो उन्हें हरा सकता है।’’

चौहान ने भारत के खिलाफ कार्रवाई के लिए चीन को परिणाम भुगतने की चेतावनी दी। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘चीन सावधान रहना। तुम (चीन) भारत को कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकते लेकिन अगर इस देश के 130 करोड़ लोग (अपना संकल्प दिखाएं) तो चीन तबाह और बर्बाद हो जाएगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भारत का नेतृत्व अब नरेंद्र मोदी कर रहे हैं। हमारे प्रधानमंत्री ने स्पष्ट कहा है कि हम कभी किसी को उकसाते नहीं हैं, लेकिन अगर कोई हमें उकसाता है तो हम समझौता नहीं करेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारी सेना के जवानों ने चीन को कड़ा सबक सिखाया है और चीनी सैनिकों (गलवान घाटी में) को करारा जवाब दिया है। मैं अपने बहादुर जवानों के लिए अपना सिर झुकाता हूं जिन्होंने अपनी जान का बलिदान दिया है।’’ चौहान ने कहा, ‘‘उन दिनों को याद करें, जब चीन भारत को आंखें (आक्रामकता) दिखाता था वहीं पाकिस्तान, श्रीलंका और अन्य छोटे देश हमें धमकी देते थे। क्या कांग्रेसी भूल गए हैं जिन्होंने इस देश में ‘हिंदी-चीनी भाई भाई’ का नारा दिया था? उन्होंने कहा, ‘‘नेहरू जी ने नारे बुलंद किए लेकिन पता ही नहीं चला कि चीन कब हमारी सीमाओं में (1962 में) घुस आया।’’ 

इसे भी पढ़ें: चीन से क्या कनेक्शन है, कांग्रेस को देश की जनता को बताना पड़ेगा: शिवराजसिंह चौहान

मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि वह कांग्रेस ही थी जिसने भारत-चीन संघर्ष को जन्म दिया। उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी अब इसका स्थायी समाधान निकालेंगे।’’ उन्होंने 2005-06 में चीन से आरजीएफ द्वारा प्राप्त धनराशि के आरोपों को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘‘सोनिया गांधी जी को चीन के साथ कांग्रेस के संबंध के बारे में स्पष्ट करना चाहिए...एक परिवार द्वारा की गई गलती के कारण चीन ने भारत की 43,000 वर्ग किलोमीटर जमीन पर कब्जा कर लिया। कांग्रेस को इसके लिए देश से माफी मांगनी चाहिए।’’ चौहान ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत-चीन सीमा संघर्ष पर उनके बयानों से सेना का ‘‘मनोबल गिर रहा’’ है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।