झारखंड में महागठबंधन के विधायकों को रायपुर किया जाएगा शिफ्ट, अमित शाह के डर से 3 दिन पहले का प्लान हुआ था कैंसिल?

Jharkhand MLA
creative common
अभिनय आकाश । Aug 30, 2022 3:16PM
मुख्यमंत्री आवास में विधायक दल की बैठक हुई। तमाम सहयोगी दल के नेता भी जिसमें मौजूद रहे। जिसके बाद ये निर्णय हुआ है कि आज शाम 4:30 मिनट पर स्पेशल फ्लाइट से उन लोगों को रायपुर ले जाया जाएगा।

झारखंड के महागठबंधन के विधायकों को रायपुर ले जाया जाएगा। छत्तीसगढ़ का रायपुर जहां कांग्रेस की सरकार है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक झारखंड में महागठबंधन के विधायकों को शाम के साढ़े चार बजे स्पेशल विमान से रायपुर ले जाया जाएगा। लाभ का पद मामले को लेकर सदस्यता पर बनी संशय अभी तक दूर नहीं हुई है। हेमंत सोरेन की सदस्यता पर तलवार अभी भी लटक रही है। ऐसे में महागठबंधन के विधायकों को एकजुट रखने की कोशिश के रूप में इस कदम को देखा जा रहा है। इंडिगो प्लेन भी कांग्रेस के नाम से बुक करा लिया गया है। 

इसे भी पढ़ें: संतालों के दुश्मन, महिला विरोधी, दुमका हत्याकांड में BJP हमलावर, कहा- अपराधियों को बचाने की कोशिश कर रहे सोरेन

मुख्यमंत्री आवास में विधायक दल की बैठक हुई। तमाम सहयोगी दल के नेता भी जिसमें मौजूद रहे। जिसके बाद ये निर्णय हुआ है कि आज शाम 4:30 मिनट पर स्पेशल फ्लाइट से उन लोगों को रायपुर ले जाया जाएगा। जब तक चीजें क्लियर नहीं होती हैं, तब तक विधायकों को वहां रखा जा सकता है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी विधायकों के साथ रायपुर जा सकते हैं। बता दें कि झारखंड के इस महागठबंधन में सबसे बड़ी पार्टी झामुमो के 30, कांग्रेस के 18 और राजद के एक विधायक हैं। वहीं मुख्य विपक्षी दल भाजपा के सदन में 26 विधायक हैं।  

इसे भी पढ़ें: नाबालिग को जिंदा जलाना पशुता, दुमका की घटना पर बोले ओवैसी- मामले की सुनवाई के लिए स्पेशल कोर्ट बनाई जाए

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तीन दिन पहले भी विधायकों को रायपुर ले जाने की कोशिश हुई थी। विधायकों को मुख्यमंत्री निवास से बसों में भरकर चालीस किलोमीटर की दूरी पर रखा भी गया था। विधायकों को रायपुर ले जाने की पूरी तैयारी हो गई थी और होटल की भी व्यवस्था हो गई थी। हालांकि उस वक्त विधायकों को शिफ्ट करने के कार्यक्रम को टाल दिया गया था। जिसके पीछे की वजह सूत्र  बताते हैं कि उसी दिन बीजेपी के चाणक्य अमित शाह एनआईए के एक कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए रायपुर में ही मौजूद थे। जिसके बाद आनन फानन में महागठबंधन के विधायकों को शिफ्ट करने का प्रोग्राम टाल दिया गया था। 

अन्य न्यूज़