झारखंड में BJP के आठ नव निर्मित जिला कार्यालयों का जेपी नड्डा ने किया उद्घाटन, सोरेन सरकार पर भी साधा निशाना

JP Nadda
झारखंड में पार्टी के आठ नव निर्मित जिला कार्यालयों के ऑनलाइन उद्घाटन के कार्यक्रम में बोलते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने यह आरोप लगाये। नड्डा ने कहा, ‘‘आज झारखंड में अराजकता की स्थिति है।

रांची। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद जेपी नड्डा ने मंगलवार को झारखंड सरकार पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि राज्य में अराजकता की स्थिति है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में नक्सलवाद का प्रकोप बढ़ गया है, आये दिन मीडिया में हत्या, लूट, बलात्कार, अपहरण की घटनाएं छाई रहती हैं। झारखंड में पार्टी के आठ नव निर्मित जिला कार्यालयों के ऑनलाइन उद्घाटन के कार्यक्रम में बोलते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने यह आरोप लगाये। नड्डा ने कहा, ‘‘आज झारखंड में अराजकता की स्थिति है। प्रदेश में नक्सलवाद का प्रकोप बढ़ गया है। आये दिन मीडिया में हत्या,लूट, बलात्कार,अपहरण की घटनाएं छाई रहती हैं।

इसे भी पढ़ें: हेमंत सरकार पर बरसे जेपी नड्डा, बोले- अराजकता का दूसरा नाम बन गया है झारखंड

उन्होंने कहा कि यह सब तब होता है जब शासक कमजोर होता है,बेपरवाह होता है। शासक को जनता की समस्याओं की कोई चिंता नही होती है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार का धंधा खुलेआम चल रहा है, स्थानांतरण एक उद्योग बन गया है। उन्होंने कहा कि से प्रदेश में समाज विरोधी ताकतों का मनोबल बढ़ा है। कोविड-19 की रोकथाम में राज्य सरकार की विफलता को रेखांकित करते हुए नड्डा ने कहा कि राज्य सरकार स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने में विफल साबित हो रही है। कुशल प्रबंधन का अभाव है। दूसरी ओर राज्य सरकार केंद्र द्वारा आवंटित मुफ्त चावल,गेहूं दाल, चना का वितरण भी गरीबों, जरूरत मंदों तक नहीं करा पा रही। भाजपा के जिला कार्यालयों के विधिवत उद्घाटन करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कार्यालय कार्यकर्ताओं के लिये कार्य की दृष्टि से केवल सुविधा नहीं होते बल्कि एक संस्कार केंद्र होते हैं जहां से कार्य करने का वातावरण और संस्कार पैदा होते हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़