• राज्यसभा में पर्चा कांड पर बोले जेपी नड्डा, संसद की मर्यादा के खिलाफ काम करने का TMC का पुराना इतिहास

अभिनय आकाश Jul 22, 2021 20:51

बीजेपी चीफ ने कहा कि तृणमूल के सांसदों ने आज जिस तरह केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव के साथ बर्ताव किया,वह लोकतांत्रिक मूल्यों के खिलाफ और निंदनीय है। संसद की मर्यादा के खिलाफ काम करने का टीएमसी का पुराना इतिहास है। नड्डा ने कहा कि शोर मचाना, कागज फाड़ना उनकी संस्कृति है।BJP इसका विरोध करती है।

राज्यसभा में तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव के हाथों से उनके लिखित बयान का पर्चा छीनकर फाड़ दिया और उसके पुर्जे-पुर्जे करके आसन की तरफ उड़ा दिया। विपक्षी सांसद पेगासस जासूसी कांड को लेकर हंगामा कर रहे थे। इस व्यवहार की भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने निंदा की है। बीजेपी चीफ ने कहा कि तृणमूल के सांसदों ने आज जिस तरह केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव के साथ बर्ताव किया,वह लोकतांत्रिक मूल्यों के खिलाफ और निंदनीय है। संसद की मर्यादा के खिलाफ काम करने का टीएमसी का पुराना इतिहास है। नड्डा ने कहा कि शोर मचाना, कागज फाड़ना उनकी संस्कृति है।BJP इसका विरोध करती है।

इसे भी पढ़ें: पेगासस जासूसी मामले में विपक्ष का हंगामा जारी, लोकसभा का कामकाज बाधित

गौरतलब है कि आज संसद में आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बोलना ही शुरू किया था कि तृणमूल कांग्रेस के सांसदों समेत पूरे विपक्ष ने शोर-शराबा शुरू कर दिया। इसी बीच टीएमसी के सांसद शांतुनू सेन ने अश्विनी वैष्णव को जवाब देने से रोका। उनसे वो लिखित बयान के कागज का पर्चा छीना और इसके बाद राज्यसभा में हंगामा शुरू हो गया। टीएमसी सांसद की इस हरकत से नाराज बीजेपी सांसद भी आगे बढ़े। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी बेहद नाराज हो गए। उपसभापति की अपील को भी इन सांसदों ने लगातार नजरअंदाज किया। आलम तो ये रहा कि टीएमसी सांसद शांतुनू सेन ने कागज आईटी मंत्री के हाथों छीन कर उसे फाड़ कर उपसभापति की ओर उछाल दिया।