ज्योतिरादित्य सिंधिया बनेंगे मुख्यमंत्री ! जैन मुनि की भविष्यवाणी- हो सकता है आप इन्हें CM के रूप में देखें

ज्योतिरादित्य सिंधिया बनेंगे मुख्यमंत्री ! जैन मुनि की भविष्यवाणी- हो सकता है आप इन्हें CM के रूप में देखें

ज्योतिरादित्य सिंधिया को लगातार बड़े नेता के तौर पर देखा जाता है। इसी कड़ी में ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर ग्वालियर जिले के एक जैन संत ने बड़ी भविष्यवाणी की है। दरअसल, ग्वालियर के फूलबाग पर आयोजित गजराज महोत्सव के दौरान सिंधिया जैन संत से आशीर्वाद लेने पहुंचे थे।

कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। वर्तमान में ज्योतिरादित्य सिंधिया भारत सरकार में नागर और विमानन मंत्रालय के मंत्री हैं। हालांकि ज्योतिरादित्य सिंधिया को लगातार बड़े नेता के तौर पर देखा जाता है। इसी कड़ी में ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर ग्वालियर जिले के एक जैन संत ने बड़ी भविष्यवाणी की है। दरअसल, ग्वालियर के फूलबाग पर आयोजित गजराज महोत्सव के दौरान सिंधिया जैन संत से आशीर्वाद लेने पहुंचे थे। इसी दौरान मुनिश्री विजयेश सागर और विहर्ष सागर ने उन्हें आशीर्वाद दिया।

बाद में बातचीत में मुनि श्री विजयेश सागर ने कहा कि हो सकता है कि कुछ दिन बाद आप सिंधिया को राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में देखें। जैसे ही संत मुनि ने यह बात कही, सिंधिया समर्थक नारे लगाने शुरू कर दिए। सिंधिया की तारीफ करते हुए संत ने कहा कि वह हमेशा विकास की बात करते हैं। उनके मन में ग्वालियर के साथ-साथ प्रदेश के विकास को लेकर भी लगातार चिंताएं रहती हैं। वह प्रदेश में नए आयामों को स्थापित करने के लिए पर लगातार प्रयास कर रहे हैं। संत मुनि ने कहा कि चाहे महाभारत हो या फिर राजनीति, हमेशा धर्म और सत्य की ही जीत होती है। 

इसे भी पढ़ें: मध्यप्रदेश में रात्रिकालीन कर्फ़्यू को छोड़कर समस्त प्रतिबंध समाप्त कर दिये गये हैं : चौहान

आपको बता दें कि वर्तमान में मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री हैं। 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने जीत हासिल की थी। हालांकि ज्योतिरादित्य सिंधिया की जगह कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाया गया था। कमलनाथ और सिंधिया के बीच दूरियां बढ़ती गई। 2020 में सिंधिया के समर्थक विधायकों ने कमलनाथ सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया। इसके बाद भाजपा की सरकार बन गई। भाजपा की सरकार बनने के बाद शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री बनाया गया जबकि सिंधिया केंद्र की राजनीति में राज्यसभा के जरिए आए और उन्हें मोदी सरकार में मंत्री बनाया गया। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।